Sat. May 15th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

भागलपुर : कटावरोधी काम में लापरवाहसे बड़े क्षेत्र में बाढ़ का हो सकता है प्रकोप., कटाव की खब र पर पहुंचे विभाग के अभियंता ने बांध ठीक करने का दिया निर्देश

2 min read

जल संसाधन संसाधन विभाग के अभियंताओं ने स्पर संख्या छह नोज दरार को देखा

दरार को देखकर मौजूद अभियंता को जल्द से ठीक करने का दिया निर्देश।

नवगछिया : लगातार गुणवत्ता (Quality) के विपरित की ख़बर (Khabar) सभी न्यूज पेपर (news paper) और चैनल पर खबर चलने से विभाग के आलाधिकारी ने लिया संज्ञान
इस्माइलपुर के लिए बिन टोली बांध पर इस बार हो रहे लगभग 40 करोड़ की लागत से कटाव रोधी कार्य को जल संसाधन विभाग के एसी इंजीनियर (engineer) मोहम्मद जफर रजा खान, फ्लड फाइटिंग (Fighting) के अध्यक्ष गिरिजा नंद सिंह ने संख्या 6 की नोज में आई दरार को देखा।अभियंताओं की टीम (Tim) ने स्पर संख्या 6 का निरीक्षण(inspection) किया। स्पर संख्या संख्या 6 नोज पर दरार की जगह पर कुदाल से मिट्टी खोदकर बोरा से ढक दिया था। जिसे अभियंताओं ने खोदने को कहा। उसके बाद एस्पर की थोड़ी सी खुदाई कराने के बाद दरार दिखी। जिसे मौके पर ही अभियंता को दुरुस्त करने का निर्देश दिया ।वही मौके पर कार्यपालक अभियंता को कहा छोटी छोटी समस्या बाद में परेशानी बढ़ा सकता है। सभी स्थानीय अभियंता को एप्रोन का लेवल दिन में दो बार जांच करने को कहा। वहीं किसान मोर्चा कार्यसमिति के सदस्य व ग्रामीण नितेंद्र सिंह उर्फ गुलाब नेता ने अभियंता को हो रहे कटाव निरोधी कार्य के बारे में जानकारी दिए और कहा कि इस बार कार्य में शुरू से हीअनिमियता देखी जा रही है। कटाव रोधी काम के जगह लूट मची है। जिसका खामियाजा आज देखने को मिल रहा है। अगर इसी तरह काम होती रही तो गंगा मैया के आगोश में कई गांव के साथ प्रखंड आ सकता है
वहीं गौर हो की पत्रकार के द्वारा लगातार ख़बर दिखाने से विभाग के अभियंताओं द्वारा पहले ख़बर को झूट साबित करने और पत्रकार पर प्राथमिकी दर्ज करने तक बात कह रहे थे जब अभियंताओं के द्वारा एस्थल निरिक्छन किया गया तोह वहा दरार दिखने से ग्रामीणों में आक्रोश उत्पन्न हो गया और ग्रामीणों ने विभाग के अधिकारी को कहा कि क्या काम करवाया गया है इसी से प्रतीत हो रहा है तटवर्तीय छेत्र में रह रहे लोगों ने कहा हमलोग अब भगवान भरोसे हैं गौर हो कि स्परो की जांच करने लगातार कई विभाग के पदाधिकारी आते हैं उसके बाद भी इस तरह के कार्य होता है
वहीं जब विभाग के ऐसी इंजीनियर मोहमद जफर रसीद खान से कैमरे ऑन कर पूछना चाहा तोह उनाहने अधिकृत नहीं होने की बात कहके कैमरे से बचते हुए धिखे
जबकि सुशासन बाबू की सरकार लगातार बयान देते आ रहे हैं हमारी सरकार जीरो टॉलरेंस पर काम कर रही है तो फिर मीडिया के कैमरे पर बोलने से क्यों पदाधिकारी कतराते हैं l

रिपोर्ट : बिट्टू कुमार