Sat. May 15th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

चंपारण : 264 करोड़ की लागत से बने सत्तर घाट महासेतु का एप्रोच रोड़ बहा गंडक में,एक महीने पूर्व ही मुख्यमंत्री ने किया था उद्घाटन

2 min read

चंपारण : बिहार के मुख्यमत्री नीतीश कुमार (Nitish kumar) ने जिस पुल का उद्घाटन एक महीने पहले किया (Bridge inaugurated a month ago) था, वो एक महीने (1 month) भी नहीं टिक पाया (Did not last). और पानी के दबाव के चलते देखते ही देखते ध्वस्त हो गया. जिसकी वजह से आवाजाही पूरी तरह से बाधित हो गई. और चंपारण, तिरहुत और सारण समेत कई जिलों से संपर्क भी टूट गया है.

बता दें कि 264 करोड़ की लागत से बना सत्तरघाट महासेतु का निर्माण कार्य किया गया था. लेकिन इसका एप्रोच रोड गंडक नदी के पानी के दबाव नहीं झेल पाया और देखते ही देखते पूरी तरह से ध्वस्त हो गया. बीते 16 जून को सीएम नीतीश कुमारने पटना से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (video conferencing) के माध्यम से इस महासेतू का उद्घाटन किया था. इसका एप्रोच रोड गंडक नदी के पानी के दबाव नहीं झेल पाया और देखते ही देखते ध्वस्त हो गया.

गौरतलब है कि गोपालगंज को चंपारण, सारण और तिरहुत के कई जिलों से जोड़ने के लिहाज से सत्तरघाट महासेतु अति महत्वकांक्षी पुल है. इसके निर्माण में करीब 264 करोड की लागत आई थी. गोपालगंज में आज तीन लाख से ज्यादा क्यूसेक पानी का बहाव था. गंडक के इतने बड़े जलस्तर के दबाव से इस महासेतु का एप्रोच रोड टूट गया जिसकी वजह से आवागमन हो गया है. बैकुंठपुर के फैजुल्लाहपुर में पुल का एप्रोच रोड टूटा है.

रिपोर्ट : महीप राज