Tue. Oct 27th, 2020

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

राजनीति षड्यंत्र के तहत जमालपुर रेल क्षेत्र को उजाड़ने की हो रही है साजिश

1 min read
  • डीजल शेड को इलेक्ट्रिक सेट में तब्दील करने की मांग को लेकर सामूहिक उपवास पर रहे मोर्चा के नेता
  • भाजपा भाजपा एजेंट के रूप में कार्यरत मुख्य कारखाना प्रबंधक को मोर्चा देगी माकूल जवाब – पप्पू
  • उपवास स्थल पर मोर्चा नेताओं ने समाजवादी योद्धा रघुवंश को दी श्रंद्धांजलि, कहा देश ने एक जन नेता खोया

डीजल शेड को इलेक्ट्रिक शेड (Diesel shed to electric shed )में तब्दील करने निजी करण से रेलवे को मुक्त करने रेलवे विश्वविद्यालय की स्थापना सहित रेल से जुड़े मांगों को लेकर विभिन्न राजनीतिक सामाजिक संगठनों की संयुक्त आवाज जमालपुर रेल निर्माण कारखाना संघर्ष मोर्चा में शामिल विभिन्न दल के नेता मोर्चा के संयोजक सह सपा जिला अध्यक्ष पप्पू यादव के नेतृत्व में सोमवार को स्थानीय जुबली बेल चौक पर सामूहिक उपवास पर रहे जिसमें राजद सपा सीपीआई लोजपा रालोसपा माले सहित विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। सामूहिक उपवास पर आयोजित सभा की अध्यक्षता भाकपा माले के वरिष्ठ नेता अशोक सिंह एवं संचालन मोर्चा के सह संयोजक कन्हैया सिंह कर रहे थे ।

उपवास पर बैठने से पूर्व मोर्चा नेताओं ने समाजवादी योद्धा पूर्व केन्द्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह को श्रद्धांजलि निवेदीत करते हुए उन्हें जन नेता बताते हुए कहा इस देश के किसान मजदूर ने अपना नेता खो दिया।

अध्यक्षता करते हुए कामरेड अशोक सिह ने कहा कि केंद्र सरकार की अपरिपक्व सोच और अदूरदर्शिता नीतियों के कारण आज देश का हर वर्ग त्राहिमाम कर रहा है और निजीकरण भी इसी का एक हिस्सा है जिसका सीधा सीधा उद्देश्य देश को चंद पूंजीपतियों के हाथ गिरवी रख अपनी महत्वाकांक्षा को पूरा करना हे जिसके विरुद्ध हमारी लड़ाई जारी रहेगी।

मोर्चा के संयोजक सह सपा जिला अध्यक्ष पप्पू यादव ने कहा कि एक राजनीतिक षड्यंत्र के तहत क्षेत्र को उजाड़ने की साजिश हो रही है इसके लिए केंद्र सरकार तो दोषी हैं बिहार सरकार भी कम गुनहगार नहीं है। उन्होंने आगे कहा कि सरकार के मंत्री दावा करते हैं कि डीजल शेड को इलेक्ट्रिक शेड में तब्दील करने के उद्देश्य से इलेक्ट्रिक इंजन का कार्यभार दिया गया। क्या मंत्री ऐसा कोई नोटिफिकेशन दिखाने में सक्षम है अगर नहीं तो जनता को भ्रमित करना बंद करें क्योंकि ये जो पब्लिक है सब जानती है, वही उन्होंने मुख्य कारखाना प्रंवधक को भाजपा का एजेंट बताते हुए कहा की एक पखवाड़े के अन्दर घेरा डालो डेरा डालो आन्दोलन के तहत मोर्चा सीडब्ल्यूएम को माकुल जबाब देगी।

वही मोर्चा के सहसंयोजक सह जदयू नेता कन्हैया सिंह ने कहा कि चाहे निर्माण कारखाना का मुद्दा हो या इलेक्ट्रिक शेड या फिर रेलवे विश्वविद्यालय यह संग्राम मोर्चा का है और अपने संघर्ष के दम पर ही मोर्चा ने केंद्र और राज्य सरकार का ध्यान खींचा और और मोर्चा का उद्देश्य राजनीति नहीं विकास है इसके लिए हमारा संघर्ष हमारी अंतिम साँसे तक जारी रहेगा ।

वही लोजपा के महासचिव कृष्णानंद राऊत एवं राजद के जिला महासचिव कृष्ण कुमार उर्फ गोरेलाल सिंह ने मोर्चा राजनीति करने के लिए राजनीति नहीं करती हमारा उद्देश्य साफ है। रेल इंजन कारखाना को निर्माण का दर्जा इलेक्ट्रिक शेड विश्वविद्यालय हमारे प्रमुख मांगों में शुमार और हम अपने उद्देश्य के लिए कोई भी कुर्बानी के लिए तैयार है।

रालोसपा के प्रदेश सचिव रविकांत झा एंव सीपीआई के संजीवन सिह ने इस रेल क्षेत्र के विघटन के लिए सीधा सीधा इस क्षेत्र के राजनेता को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि क्षेत्रवाद की राजनीति केंद्र श्री राज्य सरकार की कुत्सित मानसिकता के कारण क्षेत्र को रेलवे मानचित्र से गायब करने की साजिश हो रही है जिसे मोर्चा हर हाल में विफल करेगी।

कार्यक्रम के उपरांत मोर्चा नेताओं ने ट्वीट कर प्रधानमंत्री को 24 सूत्री मांगों का ज्ञापन भेजा।

उपवास स्थल पर सपा के उपाध्यक्ष विद्या किशोर,रामनाथ राय, मिथलेश यादव,नकुल यादव, मो आजम, रंजीत यादव, निरज यादव, मनोज क्रांति, कुमार प्रभाकर, सत्यजीत पासवान, आशिष कुमार,संतोष राऊत, प्रहलाद साहु, सुरेन्द्र सिंह, संजय यादव जितेन्द्र यादव सुरेश सिह, त्रिलोक यावर हिमाशु कुमार, कृष्ण आजाद, रामानन्द यादव, सुरज कुमार, हिमाशु यादव, छड्डपन मंडल सहित कई लोग मौजूद थे।