Sat. May 15th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

सदर अस्पताल में हो रहा 32000 लीटर क्षमता वाले टीका रखाव केंद्र का निर्माण

1 min read

दिसंबर में बन कर हो जाएगा तैयार
– बेतिया जिले के कोरोना टीके का भी सदर अस्पताल में होगा भंडारण
– जरुरत पड़ने पर पशुपालन विभाग के स्टोरेज का भी किया जा सकता है इस्तेमाल
मोतिहारी: जिले में कोविड के टीके के भंडारण को लेकर तैयारियां जोरों पर हैं। मोतिहारी सदर अस्पताल के प्रभारी सीएस डॉ रंजीत कुमार राय ने बताया कि कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर नए साल में सरकार द्वारा मिलने वाले टीका के रखरखाव के लिए सदर अस्पताल परिसर स्थित आरसीएच कार्यालय के भवन में 32000 लीटर क्षमता वाले टीका रखाव केंद्र, वाक इन कूलर हाउस का निर्माण शुरू कर दिया गया है। जिसे दिसंबर महीने में ही तैयार करने का निर्देश दे दिया गया है। बन रहे वाक इन कूलर में बेतिया जिले के कोरोना का टीका भी स्टोर रहेगा। उन्होंने बताया कोरोना टीका को देने से लेकर स्टोर में रखने तक की पूरी तैयारी स्वास्थ विभाग ने शुरू कर दी है। सदर अस्पताल में वाक इन कूलर स्टोर बनाने का काम शुरू कर दिया गया है। इस स्टोर में 32000 लीटर टीका रखने की व्यवस्था होगी। जो अपने आप में बहुत बड़ी है। आरसीएच कार्यालय में पहले से पल्स पोलियो के टीके रखने के लिए 4000 लीटर का कूलर है। मगर पर्याप्त नहीं होने के कारण एक और स्टोर बनाया जा रहा है। टीका का तापमान मेंटेन करने के लिए हाई पावर का जनरेटर भी लगाया जाएगा 24 घंटे तापमान मेंटेन रहे इसकी पूरी व्यवस्थाएं यहां की जा रही है। इस पर निगरानी के लिए टेक्नीशियन की ड्यूटी भी लगाई जाएगी।

स्वास्थ्य कर्मियों को पड़ेंगे पहले डोज़ में टीके:

डब्ल्यूएचओ के एमसीएमओ डॉक्टर सुभान अली ने बताया कि टीका सभी स्वास्थ्य कर्मियों डॉ व उनके स्टाफ को प्रथम फेज में पड़ेगा। इसके अलावा ग्रामीण स्वास्थ्य कर्मियों को भी पड़ेगा। स्वास्थ्य विभाग के द्वारा जारी निजी व सरकारी डॉक्टर नर्सिंग होम संचालक के अलावा लोगों की सूची भेजने को कहा गया है। विशेष जानकारी के लिए स्वास्थ समिति को डब्ल्यूएचओ कार्यालय से संपर्क करने को कहा गया है। उन्होंने बताया कि नए साल में कोरोना का टीका आने वाला है।

जरुरत पड़ने पर पशुपालन विभाग के स्टोरेज का भी किया जा सकता है इस्तेमाल: प्रभारी सीएस डॉ रंजीत कुमार राय ने बताया कि टीका के स्टोर के लिए पशुपालन विभाग के स्टोर का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए हर प्रकार की सुविधाओं की व्यवस्था सदर अस्पताल में की गई है। यहां मरीज बेहिचक आते हैं और कोरोना जांच कराकर उसके रिपोर्ट लेकर आसानी से लौट जाते हैं। मोतिहारी जिला का यह अस्पताल अन्य जिलों के अस्पतालों से काफी बेहतर है। यहां साफ-सफाई और इलाज की काफी सुविधाएं उपलब्ध है। यहाँ दवाओ के साथ साथ कोरोना काल मे आने वाले मरीजों से निम्न बातों का ध्यान रखने के लिये कहा जाता हैं।

व्यक्तिगत स्वच्छता और 6 फीट की शारीरिक दूरी बनाए रखें ।
•बार-बार हाथ धोयें।
•साबुन और पानी से हाथ धोएं या अल्कोहल आधारित हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें।
•छींकते और खांसते समय अपनी नाक और मुंह को रूमाल या टिशू से ढकें ।
•उपयोग किए गए टिशू को उपयोग के तुरंत बाद बंद डिब्बे में फेंके।
•घर से निकलते समय मास्क का इस्तेमाल जरूर करें।
•बातचीत के दौरान फ्लू जैसे लक्षण वाले व्यक्तियों से कम से कम 6 फीट की दूरी बनाए रखें।
•आंख, नाक एवं मुंह को छूने से बचें।
•मास्क को बार-बार छूने से बचें एवं मास्क को मुँह से हटाकर चेहरे के ऊपर-नीचे न करें
•किसी बाहरी व्यक्ति से मिलने या बात-चीत करने के दौरान यह जरूर सुनिश्चित करें कि दोनों मास्क पहने हों
•कहीं नयी जगह जाने पर सतहों या किसी चीज को छूने से परहेज करें
•बाहर से घर लौटने पर हाथों के साथ शरीर के खुले अंगों को साबुन एवं पानी से अच्छी तरह साफ करें ।

रिपोर्ट : अमित कुमार