Sat. May 15th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

डेंगू और कोरोना में कई लक्षण एक समान, दोनों से रहें सतर्क

2 min read

• बुखार, सर्दी और जुकाम वाले लक्षण एक जैसे, तुरंत कराएं जांच

• बरसात के मौसम में बढ़ जाता है डेंगू (dengue)का खतरा, इसलिए सतर्कता जरूरी

सीतामढ़ी: बरसात में डेंगू का खतरा बढ़ जाता है। इस बार यह खतरा दोगुना जोखिम भरा है। इसकी वजह यह है कि कोरोना संक्रमण के दौर में डेंगू से निबटना दोहरा चुनौती भरा काम है। लेकिन सतर्कता एवं जरुरी सावधानी बरतकर इससे बचाव संभव है.

कई लक्षण एक समान, सावधानी जरुरी:

जिला वेक्टर जनित रोग नियंत्रण(District Vector Borne Disease Control ) पदाधिकारी सह कोविड केयर के नोडल डॉ आरके यादव ने बताया कोरोना और डेंगू में कई लक्षण समान होते हैं। इन दोनों बीमारियों में बुखार, सर्दी और जुकाम वाले लक्षण एक जैसे हैं। इसलिए इस तरह के किसी भी लक्षण दिखने या महसूस होने पर बिना डॉक्टरी सलाह के दवाओं का सेवन नहीं करें। डॉ रवींद्र ने बताया डेंगू को हड्डी तोड़ बुखार भी कहते हैं, क्योंकि इसमें सर्दी-खांसी के अलावा बदन दर्द के साथ तेज बुखार रहता है। इसके अलावा आंख के पिछले भाग में दर्द, हथेली में खुजलाहट एवं शरीर पर चकत्ते उभर आते हैं। जब प्लेटलेट्स टूटने लगते हैं तो शरीर के किसी भी हिस्से से रक्तस्राव होने लगता है। वहीं कोरोना के मामले में उल्टी के बजाय संक्रमित लोगों को दस्त हो सकता है। शुरुआत में बुखार, खांसी और सांस की तकलीफ कोविड -19 के एकमात्र सूचित लक्षण थे, लेकिन कुछ समय बाद कोविड -19 से संक्रमित लोगों के साथ अन्य लक्षण भी देखे गए, जिनमें स्वाद और गंध को न पहचान पाना, त्वचा एवं पैर की उंगलियों पर घाव और चकत्ते जैसे लक्षण शामिल हैं।

घातक हो सकता है ख़ुद से इलाज करना :

डॉ यादव के अनुसार बुखार, सर्दी और जुकाम के लक्षण डेंगू और कोरोना दोनों के हो सकते हैं। इसलिए तुरंत जांच कराना बहुत जरूरी है। वह बताते हैं डेंगू में अपने से इलाज घातक हो सकता है। कई बार लोग दर्द निवारक दवा का सेवन करने लगते हैं, जो काफी घातक हो सकता है। इससे प्लेटलेट्स और टूटने लगता है, जिससे रक्तस्राव की आशंका रहती है। डेंगू में प्लेटलेट्स कम होने पर लोग घबरा जाते हैं। डेंगू होने पर ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थ लेना चाहिए। अभी के मौसम में डेंगू से बचने के लिए हमेशा फुल बाजू के कपड़े पहनने चाहिए। रात में या दिन में मच्छरदानी लगाकर सोना चाहिए। आसपास हमेशा साफ-सफाई का ध्यान रखना चाहिए। सतर्कता ही कोरोना और डेंगू से बचने का बेहतर उपाय है।

कोरोना संक्रमण से बचने के उपाय :

अपने हाथों को साबुन लगाकर अच्छी तरह से और नियमित रूप से धोएं।
• अपनी आंखों, नाक और मुंह को बार-बार छूने से बचें।
• सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और घर से बाहर निकलते समय आवश्यक रूप से मास्क पहनें।
• खांसी/छींक आने पर हथेलियों की जगह अपनी कोहनी या बांह का उपयोग करें।
• यदि कोरोना जैसे लक्षण महसूस हों तो स्वयं को क्वारंटाइन करें और जांच कराकर चिकित्सक से परामर्श लें।

 

 

डेंगू से बचने के उपाय :

• खाली बर्तनों और बाल्टियों को उल्टा करके रखें, ताकि उसमें पानी ना जमा हो ने पाए।
• लंबी आस्तीन वाली शर्ट और लंबी पैंट पहनें।
• अपनी खिड़कियों और दरवाजों के सभी छिद्रों को बंद करें।
• सोते समय मच्छरदानी का प्रयोग करें।
• कूड़ेदान को नियमित साफ करें और ढंककर रखें।

रिपोर्ट : अमित कुमार