Sat. May 15th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

पोषण के बारे ने जन जागरूकता के लिए समेकित बाल विकास सेवाएं निदेशालय ने जारी किया पोषण टाल फ्री नंबर

2 min read

मुज़फ़्फ़रपुर: समाज कल्याण विभाग के समेकित बाल विकास सेवाएं(Child Development Services) (आईसीडीएस)(ICDS) निदेशालय ने आम जनता को पोषण और प्रारंभिक बाल्यावस्था देखभाल एवं शिक्षा के बारे में जागरूक करने के लिए एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया है . कोई भी व्यक्ति टॉल फ्री नंबर (toll free number)18001215725 पर फ़ोन कर पोषण और प्रारंभिक बाल्यावस्था देखभाल एवं शिक्षा (ECCE) से जुड़ी जानकारियां घर बैठे प्राप्त कर सकता है.
आलोक कुमार, निदेशक, समेकित बाल विकास सेवाएं निदेशालय,( Directorate of Integrated Child Development Services) ने कहा कि पोषण के बारे में जन जागरूकता के लिए यह टॉल फ्री नंबर जारी किया गया है. इसके माध्यम से हम आम लोगों के बीच आसानी से पहुँच सकते है और उन्हें सही जानकारी दी जा सकती है. अभी भी आम जनता के बीच बच्चों के पोषण से जुड़ी कई भ्रांतियां व्यापत है. इस पहल से इन भ्रांतियों को दूर करने में मदद मिलेगी. जन जागरूकता के लिए यह एक अनूठी पहल है. शुरू किये गए इस निशुल्क: नंबर से बच्चों, गर्भवती एवं धात्री माताओं, किशोर-किशोरियों समेत पूरे परिवार के पोषण की जानकारी प्राप्त की जा सकती है. साथ ही इस हेल्पलाइन पर बच्चों के जीवन में शुरूआती वर्षों के महत्व, बच्चों के मस्तिष्क विकास की प्रकिया एवं प्रभावित करने वाले कारकों, प्रारंभिक बाल्यावस्था देखभाल एवं शिक्षा की अवधारणा एवं महत्व और 3-6 वर्ष के आयु के बच्चों की वृद्धि एवं विकास से जुड़ी हर जानकारी भी उपलब्ध है.


वॉइस ब्रॉडकास्ट (Voice broadcast)की भी हुई शुरूआत
टॉल फ्री नंबर के साथ ही स्तनपान और बच्चों के पूरक आहार को लेकर वॉइस ब्रॉडकास्ट की भी शुरूआत की गई. इसके माध्यम से लोगों के मोबाइल पर बच्चों के पोषण से जुड़े संदेश भेजे जा रहे हैं . पोषण माह के दौरान वॉइस ब्रॉडकास्ट के में यह अपील की जा रही है कि शिशु को जन्म के तुरंत बाद मां का गाढ़ा पीला दूध दें. जन्म से छ: माह तक सिर्फ माँ का दूध दें एवं छ: माह की आयु पूरी होने के बाद बच्चे को माँ के दूध के साथ उपरी आहार (मसला हुआ भोजन) दें. भोजन में अनाज, फल, सब्जी, अंडा एवं मांस-मछली इत्यादि शामिल करें
प्रभावशाली लोगों की अपील के माध्यम से लोगों को किया जा रहा है जागरूक .

इससे के साथ ही बिहार से जुड़े कला, फिल्म, साहित्य, संगीत के क्षेत्रों के प्रसिद्ध लोगों द्वारा हर घर पोषण त्यौहार को अपनाकर कुपोषण दूर करने के लिए अपील की जा रही है ताकि सभी लोग अपने इस जन आन्दोलन का हिस्सा बन सकें.
इसके अलावा सभी आयु वर्गों के लिए ऑनलाइन पोषण प्रतियोगिता(online nutrition competition) का भी आयोजन पर किया जा रहा है। जिसमे भाग लेकर प्रतिभागी पोषण चैम्पियन का प्रमाण पत्र हासिल कर सकते हैं.

रिपोर्ट : अमित कुमार