Fri. May 14th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

कोरोना काल में सेहतमंद रहने के चार आधार तम्बाकू-शराब से दूरी, व्यायाम व पौष्टिक आहार

2 min read

रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत रहेगी तो कोरोना का नहीं रहेगा डर

-विश्व स्वास्थ्य संगठन(World Health Organization) ने पोस्टर के जरिए कोरोना काल में स्वस्थ रहने के बताए हैं उपाय

सीतामढ़ी : कोरोना काल में सेहत को लेकर आज हर किसी में जागरूकता दिख रही है। लोग यह मान चुके हैं कि शरीर स्वस्थ रहेगा तभी कोरोना को मात दे सकेंगे। कोरोना की रोकथाम के लिए जिले में राज्य की ओर से बनाए गए नोडल अधिकारी डॉ एसके चौधरी के मुताबिक ज्यादातर कोरोना मरीजों के मामले में देखा गया है कि जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत थी, वे तुरंत रिकवर हो गए। बहुतों को तो पता भी नहीं चला कि वे कब वायरस की चपेट में आए। कोरोना संक्रमण से बचे रहने के लिए पूरी तरह से सेहतमंद रहने पर हर किसी को जोर देना चाहिए।

डब्ल्यूएचओ (WHO) ने जागरूकता के लिए जारी किया है पोस्टर :

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने पोस्टर जारी कर कोरोना काल में सेहतमंद रहने के लिए तम्बाकू-शराब से दूरी, व्यायम और पौष्टिक आहार को जरूरी बताया है। बताया गया है कि पौष्टिक आहार से शरीर में हर बीमारी से लड़ने वाला रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ता है। हरी सब्जियां, दूध, अंडे सेहत के लिए बहुत जरूरी हैं। कोरोना संक्रमण से बचे रहने के लिए तमाम जरूरी उपायों के अलावा पौष्टिक आहार लेना आज हर किसी के लिए आवश्यक है।

योग-व्यायम रखते हैं शरीर को चुस्त-दुरुस्त :

योग प्रशिक्षक मुकेश चौबे के मुताबिक
योग-व्यायाम की महत्ता शुरू से रही है। शरीर को चुस्त-दुरुस्त रखने के लिए हमेशा योग-व्यायाम करते रहना चाहिए। इसे नित्य के क्रियाकलापों में शामिल करना चाहिए। कोरोना काल में इसका महत्व और अधिक बढ़ गया है। उनके अनुसार योग करने से पहले ही योग के फायदे मिलने शुरू हो जाते हैं। वे बताते हैं कि सुबह उठ जाना ही निरोग रहने के लिए महत्वपूर्ण है। इसके बाद जब योग-व्यायाम करते हैं तो चरणबद्ध तरीके से शरीर को इसके फायदे मिलने लगते हैं।

तम्बाकू-शराब से करें तौबा :

डॉ एसके चौधरी के मुताबिक नशा का सेवन शरीर के लिए बहुत घातक है। यह गंभीर बीमारियों के साथ-साथ रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी कमजोर करता है। तंबाकू चबाने वालों को कैंसर, फेफड़े की गंभीर बीमारी और मधुमेह का सबसे अधिक खतरा होता है। कोरोना वायरस इन बीमारी वाले लोगों को सबसे जल्दी अपनी जकड़ में लेता है। वहीं शराब पीने वालों का लिवर  डैमेज हो जाता है। ऐसे लोगों को कोरोना संक्रमण का ज्यादा जोखिम रहता है।

रिपोर्ट : अमित कुमार