Tue. May 11th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

गया : क्वारेंटाइन सेटरों का जिलाधिकारी ने किया निरिक्षण.. क्वारेंटीन लोगों के स्किल मैपिंग का दिया निर्देश

1 min read

गया : गया कोविड 19, वैश्विक कोरोना महामारी से बचाव व सुरक्षा के लिए किए गए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के दौरान बिहारवासी जो भारत के अन्य राज्यों में जाकर काम करते हैं। लॉक डाउन होने के बाद उन सभी लोगों को संबंधित कंपनी/एजेंसी द्वारा खाना देना बंद कर दिया गया, संबंधित कंपनियां भी बंद हो गई साथ ही उन्हें अपने घर वापस जाने को बोल दिया गया है।आज ज़िलाधिकारी, गया अभिषेक सिंह द्वारा नीमचक बथानी अनुमंडल अंतर्गत सभी क्वारंटाइन सेन्टर का निरीक्षण किया गया है। सर्वप्रथम उन्होंने यशवंत सिंह हाई स्कूल खिजरसराय को बनाए गए कोरेंटिन सेंटर का निरीक्षण किया गया है। जिलाधिकारी ने क्वॉरेंटाइन सेंटर के एक-एक कमरे में रह रहे व्यक्तियों से जानकारी ली। उन्होंने पूछा कि आप कहां से आए हैं, क्या काम करते थे,कितनी सैलरी मिलती थी और वापस क्यों गया ज़िला आये हैं? इत्यादि बातें जिलाधिकारी ने एक-एक कर सभी क्वारंटाइन व्यक्तियों से पूछा गया है कई व्यक्तियों ने बताया कि ट्रेन के माध्यम से वाह मुंबई, सूरत एवं दिल्ली से गया जिला लौटे हैं। सभी को जिला प्रशासन द्वारा कोरेंटिन किया गया है। कोरेंटिन में रह रहे सभी व्यक्तियों ने जिलाधिकारी को कहा कि वह अब दुबारा वापस दिल्ली, मुंबई, सूरत या अन्य राज्यों में काम करने नहीं जाना चाहते हैं। जिलाधिकारी ने सभी क्वॉरेंटाइन व्यक्तियों को मास्क पहनकर रहने का निर्देश दिया गया है। प्रखंड विकास पदाधिकारी, खिजरसराय को सभी क्वारंटाइन व्यक्तियों की स्किल मैपिंग कराने के निर्देश दिए गए हैं। जिलाधिकारी ने सभी क्वारंटाइन व्यक्तियों को बताया कि यदि अगर कोई व्यक्ति अपना व्यवसाय प्रारंभ करेंगे तो उसे सरकार द्वारा लोन भी दिया जाएगा एवं
जिलाधिकारी ने सभी व्यक्तियों से विटामिन सी की गोली के बारे में जानकारी ली सभी ने बताया कि प्रत्येक दिन सुबह शाम को एक-एक गोली का प्रयोग कर रहे हैं। प्रखंड विकास पदाधिकारी को कहा कि सभी क्वारंटाइन व्यक्तियों से आधार कार्ड एवं बैंक खाता नंबर प्राप्त कर लें, ताकि उन्हें सरकार द्वारा दी जाने वाली सुविधाएं मिल सके। उन्होंने कहा कि अल्टरनेटिव रूप से व्यक्तियों का स्वास्थ्य जांच करवाते रहें उन्होंने कहा कि प्रत्येक कमरे के साथ शौचालय को टैग कर दें, ताकि कोई दूसरे कमरे का व्यक्ति किसी और कमरे के व्यक्ति का शौचालय प्रयोग ना कर सके इसके लिए नंबरिंग लिखवा दें।
आदर्श मध्य विद्यालय, खिजरसराय को बनाए गए कोरेंटिन सेंटर का जायजा लिया गया है। सर्वप्रथम उन्होंने रसोईया द्वारा बनाए जा रहे खाना का निरीक्षण किया गया है इस निरीक्षण के क्रम में आलू परवल की सब्जी बनाई जा रही थी। जिलाधिकारी ने रसोईया से सुबह के समय क्या दिया जाता है? यह पूछने पर बताया गया कि सुबह में गुड़ और चना सभी को दिया जाता है। पुर्वाह्न 9:00 से 10:00 के बीच में सभी को नाश्ता करा दिया जाता है। कोरेंटिन में रह रहे सभी व्यक्तियों को एवं बच्चों को भी दूध दिया जा रहा है। जिलाधिकारी ने अंचलाधिकारी को प्रतिदिन बनाए जा रहे खाना की निगरानी करने के निर्देश दिए गए हैं। कोरेंटिन सेंटर के अंतर्गत परिवार वाले समूह को पृथक रखे गए बिल्डिंग के निरीक्षण के दौरान पीछे का गेट खुला देख कर जिलाधिकारी ने क्वॉरेंटाइन सेंटर के प्रभारी को फटकार लगायी।सभी कोरेंटिन सेंटर पर एक ही गेट प्रवेश और निकास के लिए रहेगा। इसके अलावा सभी गेट पूर्ण रूप से बंद रहेंगे। क्वारंटाइन परिवार के समूह द्वारा बताया गया कि वे मुंबई से लौटे हैं उनके साथ उनकी पत्नी एवं 1 बच्चे हैं। वे सभी एक साथ कोरेंटिन में रह रहे हैं। उन्होंने जज्बा वर्ल्ड स्कूल, ब्लॉक हेल्थ क्वॉरेंटाइन सेंटर का निरीक्षण किया गया है। कोरेंटिन में रह रहें वैसे व्यक्ति जिनको कोई सिंप्टम चाहे सर्दी, खांसी,बुखार इत्यादि हो उन्हें ब्लॉक हेल्थ क्वॉरेंटाइन सेंटर में रखा जाएगा और यहीं से उनका सेंपलिंग लिया जाएगा। यदि लिए गए सैंपल का रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आएगा तो उसे जिला आइसोलेशन वार्ड में एडमिट किया जाएगा। जज्बा वर्ल्ड स्कूल में कम से कम व्यक्तियों को रखा जाए एवं प्रत्येक कमरे में एक ही व्यक्ति को रखा जाए क्योंकि यहाँ सिंटोमेंटिक व्यक्तियों को ही रखा जाना है। इस विद्यालय के सभी कमरों का प्रॉपर सैनिटाइजेशन किया जाना है। शौचालय एवं बाथरूम को साफ सफाई रखने के निर्देश दिए गए हैंअनुमंडल कार्यालय, नीमचक बथानी का निरीक्षण किया गया है। अनुमंडल पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि कुल 70 डाटा ऑपरेटर द्वारा राशन कार्ड के लंबित आवेदनों की डाटा एंट्री की जा रही है। अब तक लगभग 1500 राशन कार्ड लंबित है जिन्हें शीघ्र ही पूर्ण कर लिया जाएगा एवं जिलाधिकारी ने सभी कंप्यूटर ऑपरेटर को निर्देश दिया कि प्रत्येक दिन एक ऑपरेटर द्वारा कम से कम 25 राशन कार्ड की एंट्री किया जाना है। उसके उपरांत है सरकार द्वारा निर्धारित दर पर उन्हें भुगतान दिया जाएगा अन्यथा उनके दर में कटौती की जाएगी और जिलाधिकारी ने अनुमंडल पदाधिकारी को बताया कि वैसे व्यक्ति जिनका आधार मैच नहीं हो रहा है संबंधित को अविलंब नोटिस भिजवा दें।उन्होंने अतरी प्रखंड अंतर्गत शिक्षा विभाग के बीआरसी अतरी कोरेंटिन सेंटर का जायजा लिया गया है। जिलाधिकारी ने उपस्थित क्वारंटाइन व्यक्तियों से जानकारी ली गई है। कई व्यक्तियों द्वारा बताया गया कि वे सूरत से लौटे हैं वहाँ सेंटिंग का कार्य करते थे। जिलाधिकारी ने कोरेंटिन में रह रहे सभी व्यक्तियों से कोरेंटिन सेंटर का फीडबैक लिया गया है। कई व्यक्तियों ने बताया कि कोरेंटिन के प्रभारी को साबुन एवं मच्छरदानी नहीं रहने की बात बताई गई परंतु अब तक साबुन एवं मच्छरदानी उपलब्ध नहीं कराए हैं। जिलाधिकारी ने कोरेंटिन सेंटर के प्रभारी प्रखंड कृषि पदाधिकारी, अतरी रमाकांत दुबे से स्पष्टीकरण पूछते हुए अगले आदेश तक वेतन बंद रखने का निर्देश दिए एवं अंचलाधिकारी को निर्देश दिया कि 24 घंटे के अंदर कोरेंटिन सेंटर पर साबुन एवं मछरदानी उपलब्ध करा दी जाए एवं इसके उपरांत उन्होंने रसोईया द्वारा बनाए जा रहे खाना का जायजा लिया रसोईया द्वारा बताया गया कि आलू-कटहल की सब्जी बनायी जा रही है। सुबह में गुड़ और चना दिया जाता है। सभी बच्चे एवं क्वॉरेंटाइन वाले व्यक्तियों को दूध भी दिया जाता है। प्रखंड विकास पदाधिकारी को निर्देश दिया कि किसी भी व्यक्ति की बिना स्किल मैपिंग के और बिना बैंक खाता न0 की इंट्री किये बगैर कोरेंटिन सेंटर से नहीं जाने देंगे।
इसके बाद कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय का निरीक्षण किया वहाँ परिवार के सदस्यों को एक साथ समूह में कोरेंटिन रखा जाता है। जिलाधिकारी द्वारा पूछने पर बताया गया कि सुबह मुंबई से आए हैं, उनके साथ उनकी पत्नी एवं तीन बच्चे हैं। जिलाधिकारी द्वारा पूछने पर बताया गया कि वह रेल मार्ग द्वारा टिकट लेकर वे गया आए हैं, रेल का किराया भी उन्होंने दिया है जिलाधिकारी ने टिकट अपने पास रखने का निर्देश दिया गया है। कहा कि सरकार द्वारा पैसा वापस दिया जाएगा एवं एक व्यक्ति ने बताया कि वह सूरत से लौटा है 2012 से ही वह सूरत में कपड़ा का काम करता है। वह भी अपने परिवार के साथ रेल मार्ग द्वारा वापस गया आया है उसे भी जिलाधिकारी ने टिकट अपने पास रखने का निर्देश दिया ताकि उन्हें पैसा वापस दिया जा सके। कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में महिलाओं के लिए पक्का शौचालय नहीं रहने पर उन्होंने अंचलाधिकारी को पक्का शौचालय निर्माण कराने का निर्देश दिए साथ ही कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय के संचालक को निर्देश दिया कि अपने सामानों को कहीं और सुरक्षित एक स्थान पर रखें ताकि और अधिक संख्या में परिवार के समूह को कोरेंटिन में रखा जा सके।
इसके उपरांत उन्होंने राणा रणजीत सिंह उच्च विद्यालय, बेला का निरीक्षण किया गया है। इस निरीक्षण में देखा गया कि वहां कुल 62 व्यक्तियों को कोरेंटिन में रखा गया है। कोरेंटिन में रह रहे व्यक्तियों द्वारा बताया गया कि उन्हें अब तक मछरदानी उपलब्ध नहीं कराया गया है। जिलाधिकारी ने प्रखंड विकास पदाधिकारी, मोहरा को अविलंब सभी व्यक्तियों को मछरदानी उपलब्ध कराने के सख्त निर्देश दिए गए हैं।
राजकीय मध्य विद्यालय तेतर, मोहरा के निरीक्षण के दौरान देखा गया कि वहां 93 व्यक्तियों को कोरेंटिन में रखा गया है। प्रखंड विकास पदाधिकारी को शौचालय एवं आसपास के परिसर को साफ रखने के निर्देश दिए गए हैं। कोरेंटिन सेंटर के प्रभारी को पर्याप्त संख्या में बेड की उपलब्धता पूर्व से रखने का निर्देश दिए ताकि आने वाले दिनों में कोरेंटिन में व्यक्तियों की संख्या बढ़ सकती है। जिलाधिकारी ने प्रखंड विकास पदाधिकारी को बताया कि इस कोरेंटिन सेंटर में अलग से एक पेयजल हेतु टैंकर उपलब्ध रखा जाए एवं
इसके उपरांत उन्होंने मोहरा प्रखंड अंतर्गत ई-किसान भवन ब्लॉक हेल्थ कोरेंटिन सेंटर का निरीक्षण किया थाना प्रभारी मोहरा को पुलिस की प्रतिनियुक्ति करने का निर्देश दिया और प्रखंड विकास पदाधिकारी को सीसीटीवी कैमरा लगाने के निर्देश दिए गए हैं उपस्थित मुखिया को बताया कि मनरेगा एवं जल- जीवन- हरियाली के काम में काफी धीमी प्रगति है। उन्होंने कार्य में प्रगति लाने के निर्देश दिए गए हैं। कोरेंटिन में रह रहे व्यक्ति जिनका 21 दिन पूर्ण होने के बाद वह वापस गांव अपने घर चले गए हैं उन्हें भी काम दिया जाए एवं उपस्थित मुखिया द्वारा बताया गया कि पेयजल के लिए टावर बनाने के लिए जमीन उपलब्ध नहीं हो पा रही है। जिलाधिकारी ने अंचलाधिकारी एवं थाना प्रभारी को 2 दिनों के अंदर जमीन चिह्नित कर पेयजल हेतु टावर निर्माण कराने के निर्देश दिए गए हैं इस निरीक्षण के क्रम में जिला पंचायती राज पदाधिकारी श्री सुनील कुमार उपस्थित थे।

                       रिपोर्ट : धीरज गुप्ता