Thu. May 13th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

गया : बदलते मौसम के अनुरूप खेती के गुर सीखेंगे किसान… कृषि मंत्री ने किसान पाठशाला की ली जानकारी

2 min read

गया : बिहार (Bihar) सरकार ने मौसम में अनुकूल खेती के तरीको को सिखाने के लिये प्रत्यक्षण एवं प्रशिक्षण कार्यक्रम प्रारम्भ किये हैं। इसी क्रम में डा॰ प्रेम कुमार (Dr. Prem Kumar), मंत्री, कृषि, पशुपालन एवं मत्स्य संसाधन, विभाग, बिहार सरकार ने आत्मा, गया के परियोजना निदेषक, षिवदत्त कुमार सिन्हा से मौसम में हो रहे बदलाव के अनुसार किसान पाठषाला संचालित करने की जानकारी लिया।जानकारी लेने के बाद मंत्री ने कहा कि मौसम में हो रहे बदलाव का ही परिणाम है कि किसानों को बार-बार सूखा, बाढ़, बेमौसम बारिश (Unseasonal rain) और ओलावृष्टि जैसे आपदाओं का सामना करना पड़ रहा है। इससे निपटने के लिये कृषि वैज्ञानिकों ने मौसम अनुकूल खेती के तरीकों पर कार्य प्रारम्भ कर दिया है और उसी के अनुसार फसल चक्र विकसित कर खेती के प्रत्यक्षण एवं प्रशिक्षण आयोजित हो रहे हैं। किसान पाठशाला के माध्यम से किसानों को करके सिखने का अवसर मिलता है और फसल लगाकर देखने से एवं उपज प्राप्त करके उनको किसी तकनीकी पर आसानी से भरोसा हो जाता है। किसान पाठशाला का मोटो ही है “Learning by Doing, Seeing and Believing is Harvesting” । राज्य सरकार आत्मा के माध्यम से खरीफ एवं रबी मौसम में प्रत्येक प्रखण्ड में किसान पाठशाला संचालित करती है। जिसमें एक प्रगतिशील किसान (Kishan) अन्य 25 किसानों के साथ मिलकर एक हेक्टेयर खेत पर फसल प्रत्यक्षण लगाकर खेत की तैयारी से लेकर फसल कटनी एवं पोस्ट हार्वेस्ट मैनेजमेन्ट (Post harvest management) तक का प्रषिक्षण 06 सत्र में लेते हैं। कृषि वैज्ञानिक एवं प्रसार कार्यकर्ता इस कार्य में उनकी मदद (help) करते हैं। मौसम में हो रहे बदलाव को देखते हुये किसानों को किसान पाठशाला में मौसम अनुकूल खेती की फसलों की खेती और तरीकों को सिखाने का निर्देश परियोजना निदेशक ,आत्मा को दिया गया है। एक किसान पाठषाला के संचालन हेतु सरकार 29414 रुपये आत्मा योजना में उपलब्ध कराती हैं।

रिपोर्ट : धीरज गुप्ता