Sun. May 16th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

गया : मगध आयुक्त ने लोगों से की अपील.. कहा बेवजह न निकले..

1 min read

गया : कोविड-19 वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव व सुरक्षा के लिए किए गए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन का अनुपालन औरंगाबाद जिला में किया जा रहा है य नहीं, इसका जायजा लेने मगध प्रमंडल के आयुक्त असंगबा चुबा आओ एवं पुलिस महानिरीक्षक राकेश राठी ने संयुक्त रूप से औरंगाबाद जिले के विभिन्न स्थलों का निरीक्षण किया गया है। आयुक्त, मगध प्रमंडल की अध्यक्षता में औरंगाबाद के जिला अतिथि गृह के सभागार में कोविड-19 से संबंधित जिला स्तर पर गठित विभिन्न कोषांगों तथा कोविड-19 के संबंध में किए गए विभिन्न प्रबंधों की समीक्षा बैठक की गयी है। इस बैठक में मगध रेंज के पुलिस महानिरीक्षक राकेश राठी, औरंगाबाद के जिला पदाधिकारी सौरभ जोरवाल व पुलिस अधीक्षक दीपक बरनवाल,उप विकास आयुक्त, औरंगाबाद, विशेष कार्य पदाधिकारी, जिला परिवहन पदाधिकारी,जिला आपूर्ति पदाधिकारी,अनुमंडल पदाधिकारी औरंगाबाद,अनुमंडल पदाधिकारी दाउदनगर एवं विभिन्न कोषांगों के प्रभारी पदाधिकारी सम्मिलित हुए हैं।सर्वप्रथम कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों के स्वास्थ्य एवं जांच संबंधी अद्यतन स्थिति की समीक्षा की गई है। समीक्षा के क्रम में बताया गया कि औरंगाबाद जिले में अब तक कुल 13 व्यक्तियों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। जिनमें से 8 व्यक्तियों की दूसरी जांच रिपोर्ट नेगेटिव आया है। इन सभी व्यक्तियों के संपर्क में आए सभी संभावित संक्रमण वाले व्यक्तियों की जांच कराई गई थी जिनमें से अब तक प्राप्त सूचना के अनुसार मात्र एक व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी और शेष सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। आयुक्त को यह भी जानकारी दी गई कि जिला प्रशासन संक्रमण के संभावित चेन को समाप्त करने का प्रयास कर रहा है। जिसमें अब तक काफी हद तक सफलता मिली है ट्रैकिंग एवं टेस्टिंग के समुचित कार्य योजना का अनुपालन किया जा रहा है।आयुक्त द्वारा बाहर से आने वाले लोगों के बारे में पृच्छा की गई है इस संबंध में आयुक्त को अवगत कराया गया कि अब तक विदेशों से कुल 131 लोग तथा अन्य राज्यों से 1083 प्रवासी मजदूर आए हैं। कोटा,राजस्थान से 4 मई 2020 को कुल 243 छात्र औरंगाबाद जिले में आए हैं जिनके प्रखंडवार संख्या इस प्रकार है :- औरंगाबाद 77, बारुण 14, दाउदनगर 42, देव 13, गोह 18, हसपुरा 15, कुटुंबा 4, मदनपुर 4, नवीनगर 25, ओबरा 20 रफीगंज 11.
आयुक्त द्वारा निर्देशित किया गया की बाहर से आने वाले लोगों के लिए जहाँ तक संभव हो सके इस प्रकार की व्यवस्था की जाए कि वे लोग कम से कम दूसरों के संपर्क में आए,जिससे यदि उनमें से कोई व्यक्ति संक्रमित होगा तो उसका अन्य लोगों को संक्रमण ना हो सके एवं आयुक्त द्वारा परिवहन की व्यवस्था की समीक्षा की गई है। जिला परिवहन पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि रमुनि देवी B.Ed कॉलेज औरंगाबाद में जिला परिवहन कोषांग कार्यरत है बाहर से आने वाले लोगों के लिए उनके संबंधित प्रखंड क्वारंटीन कैंपों में भेजा जा रहा है एवं वाहनों की पर्याप्त व्यवस्था की गई है। रेलवे के विभिन्न स्टेशनों पर आने वाले लोगों के लिए भी समय पर पर्याप्त वाहनों को भेजा जा रहा है।
आपूर्ति की समीक्षा के क्रम में दोनों अनुमंडल पदाधिकारियों द्वारा बताया गया कि जिले में सभी जगह राशन का वितरण सुचारू रूप से किया गया है। डीवीटी के तहत आधार एवं बैंक खाता के अपडेशन का कार्य कराया जा रहा है और आज तक 69150 अपडेशन किया जा चुका है जो कुल प्राप्त डाटा का लगभग 85% है दाल का आवंटन प्राप्त हो गया है, जिसका उठाव किया जा रहा है जीविका के माध्यम से लगभग 20,000 से अधिक आवेदन प्राप्त हुए हैं। आयुक्त द्वारा आपूर्ति संबंधी कार्यों को और तीव्र गति से पूर्ण करने का निर्देश दिया गया है और कोई भी योग्य लागू वंचित ना रह जाए इसका निर्देश दिया गया है।
स्वास्थ्य संबंधी समीक्षा के दौरान सिविल सर्जन से स्वास्थ संबंधी व्यवस्थागत प्रबंधों की जानकारी प्राप्त की गई। सैंपल कलेक्शन केंद्र के कार्यों की समीक्षा की गई है। एईएस के संबंध में किए गए प्रबंधों की समीक्षा की गई तथा सिविल सर्जन को लू के प्रकोप से बचाव के लिए अस्पतालों में उचित प्रबंध करने के लिए तथा व्यापक जन जागरूकता चलाने का निर्देश दिया गया है।गेट स्कूल में सैंपल कलेक्शन केंद्र तथा ओबरा एवं मदनपुर में प्रखंड क्वारंटीन केंद्रों का निरीक्षण आयुक्त द्वारा किया गया है।
इस अवसर पर आयुक्त ने मीडिया के माध्यम से अपील की कि कोविड-19 से सुरक्षा एवं बचाव के लिए किए गए लॉक डाउन एवं सरकार द्वारा जारी सभी निर्देशों का शत-प्रतिशत अनुपालन किया जाए एवं घर से बाहर बिना कार्य न निकले एवं निकले तो मास्क का प्रयोग करें एवं नागरिकों से अपील की कि यदि कोई व्यक्ति उनके क्षेत्र में राज्य के बाहर से आया हो और स्क्रीनिंग मेडिकल जांच के बिना रह रहा हो तो इसकी सूचना तुरंत जिला प्रशासन के नियंत्रण कक्ष को दें ताकि उसकी जांच की जा सके और उसे कोरेन्टीन में रखा जा सके।
आयुक्त ने गया जिला के आमस,शेरघाटी एवं डोभी अवस्थित क्वॉरेंटाइन सेंटरों का भी मुआयना किया गया है। क्वॉरेंटाइन सेंटर के प्रभारियों को क्वॉरेंटाइन सेंटर पर रहने वालों को सभी वांछित सुविधाएं यथा ससमय अच्छी गुणवत्ता वाला भोजन के साथ सबों को डिग्निटी कीट उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं। क्वॉरेंटाइन सेंटर पर निर्बाध विद्युत आपूर्ति,पंखा,प्रकाश एवं स्वच्छ वातावरण उपलब्ध कराने के निर्देश दिए साथ ही प्रवासी मजदूरों के साथ अच्छा व्यवहार करने के निर्देश दिए है। उन्होंने पदाधिकारियों को नियमित रूप से क्वॉरेंटाइन सेंटर का भ्रमण करने के निर्देश दिया गया है और कहा कि यदि किसी क्वॉरेंटाइन सेंटर से किसी प्रकार की कोई शिकायत मिलती है तो अविलंब उसका निष्पादन किया जाए।

रिपोर्ट : धीरज गुप्ता