Sun. May 16th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

जेनेवा.. विश्व स्वास्थ्य संगठन कोरोना के प्रसार को लेकर कही बड़ी बात..वायु के माध्यम से प्रसार के स्पष्ट प्रमाण नहीं

2 min read

जिनेवा : विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (World Health Organization) ने कहा है कि वायु के माध्‍यम से नोवेल कोरोना वायरस (Novel Corona Virus) के फैलने के बारे में कोई स्‍पष्‍ट प्रमाण नहीं हैं। हवा में मौजूद कणों के माध्‍यम से कोविड-19 (COVID 19) के प्रसार के बारे में 32 देशों के दो सौ 39 वैज्ञानिकों के शोध के बाद विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन में संक्रमण (Infection) से बचाव और नियंत्रण सम्‍बंधी तकनीकी टीम (Tim) की प्रमुख डॉक्‍टर (doctor) बेनेदेत्‍ता अलेग्रांज़ी का ये बयान आया है।

शोधार्थियों ने कोविड संक्रमण के फैलने के सम्‍बंध में विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन की सिफारिशों पर पुनर्विचार की अपील की है। लेकिन विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन को हवा के माध्‍यम से इस वायरस के फैलने का कोई ठोस प्रमाण नहीं मिला।

वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद के महानिदेशक शेखर मांडे ने लोगों से पूरी सुरक्षा बरतने का आग्रह किया है। उन्‍होंने कहा कि हवा के जरिए फैलने वाला संक्रमण भी वायु में ज्‍यादा देर तक नहीं रह सकता। श्री मांडे ने कहा कि मास्‍क लगाने और सुरक्षित दूरी बनाए रखने से ही कोविड संक्रमण के सम्‍पर्क में आने की आशंका महत्‍वपूर्ण रूप से कम की जा सकती है।उन्होंने कहा कि  हम लोग जो प्रीक्‍योशन ले रहे हैं। उसे नियमित रूप से उसका पालन करे ये काफी होगा। जैसे कि सोशल डिस्‍टेंसिंग (Social Distancing) मेनटेनकरना है,मास्‍क (Masks) पहनना है, जहां पर वेंटिलेशन (Ventilation) अच्‍छा न हो,वहां पर संभावना बढ़ जाती है, इसलिए बंद जगहों पर भी ये आवश्‍यक है कि किसी ने अगर वेंटिलेट कर रखे है और फैन वगैरह लगे है तो संभावना बहुत कम हो जाती है कोविड होने की।

रिपोर्ट : साकिब ज़िया