Tue. Oct 27th, 2020

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

कोरोना काल में तारणहार बनी आशा, घर-घर जाकर लोगों को देती रही दिलासा

1 min read
  • – गृह भ्रमण कर होम आइसोलेटेड लोगों को देती रही जानकारी
    – गंभीर रोगियों और गर्भवतियों की लाइन लिस्टिंग बना करती थी कोरोना संक्रमण से सचेत

मुजफ्फरपुर। 
लॉकडाउन के शुरुआती समय से ही जब हम और आप अपने घरों में महफूज थे, उस वक्त आशा कार्यकर्ताओं ने कोरोना संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में जो हौंसला दिखाया। वह अपने आप में एक मिसाल है। संदिग्ध लक्षणों वाले लोगों और प्रवासियों की खोज से लेकर गर्भवतियों और गंभीर रोगियों की पहचान तक आशा कार्यकर्ताओं द्वारा की गयी। वहीं होम आइसोलेशन के दौरान भी लोगों को उचित सलाह और निरंतर देख-रेख में आशा का ही सहारा लिया गया।

3383 होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों तक पहुंची आशा
डीसीएम राजकिरण ने बताया कोरोना वायरस के रोकथाम और प्रबंधन में आशा कार्यकर्ताओं ने बेहतरीन भूमिका निभाते हुए लॉकडाउन की अवधि से लेकर 11 अक्टूबर तक 3383 होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों को उचित देखभाल, 3249 घर जहां पोस्टर चस्पा किया गया। वहीं 3304 होम आइसोलेट मरीजों को ड्रग किट पहुंचाया गया। लॉकडाउन के दौरान वैसे 57291 मरीज जिनको प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सकों के द्वारा दूरभाष पर चिकित्सकीय सहायता दी गयी, में भी आशा का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

आशा ने किया गंभीर रोगियों के 596325 घरों से संपर्क
कोरोना के संदिग्ध मरीजों के पहचान के अलावा आशा द्वारा लॉकडाउन की अवधि में जुलाई तक के आंकड़ों के अनुसार कुल 596325 घरों से संपर्क किया गया। गंभीर रोगियों के तौर पर जिले में मधुमेह के 18469, उच्च् रक्तचाप के 18491, हृदय रोग के 3180, 416 गुर्दा रोग, 169 कैंसर, 2499 टीबी रोगियों की खोज आशा के द्वारा की गयी। वहीं लॉकडाउन के दौरान 78231 गर्भवतियों की खोज की गयी जिन्हें प्रसव के लिए सरकारी अस्पतालों में आने की सलाह भी आशा के द्वारा दी गयी।

कोविड अनुरूप व्यवहारों संबधी जागरुकता फैलाना
डीसीएम राजकिरण ने बताया गृह भ्रमण के दौरान आशा द्वारा लोगों को आपस में शारीरिक दूरी का पालन करने, समय -समय पर हाथ को धोते रहने तथा मास्क का प्रयोग करने की सलाह भी दी जाती रही।

कोविड के संदर्भ में आशा द्वारा किए गये कार्य
– कोविड19 के रोकथाम के लिए महत्वपूण संदेश देना
– प्रवासी व्यक्तियों की खोज तथा संदिग्ध लक्षणों वाले मरीजों की पहचान करना
– होम आइसोलेशन के दरम्यान रहने के तरीकों को बताना
– लोगों को हाथ धोने के तरीकों और उसकी उपयोगिता के बारे में बताना
– कोरोना संबंधी भ्रांतियों बनाम उनकी वास्तविकता को बताना