Thu. Apr 15th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

कोविड हेल्थ सेंटर में स्वास्थ्य कर्मियों की हुई जांच, सेहत के लिए जरूरी बातों पर दिया गया बल

1 min read

एनसीडी स्क्रीनिंग (NCD screening) के तहत उच्च रक्तचाप, मधुमेह एवं तीनों प्रकार के सामान्य कैंसर की हो रही जांच

सेहतमंद रहने के लिए जरूरी उपाय अमल में लाने को किया जा रहा प्रेरित

सीतामढ़ी: जिले में स्वास्थ्य कर्मियों की सेहत की जांच के लिए हर स्वास्थ्य केंद्र पर फिट हेल्थ वर्कर अभियान चल रहा है। इसी कड़ी में बुधवार को डुमरा स्थित डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर पर चिकित्सक, स्टाफ, नर्स, एएनएम (ANM)और लैब टेक्नीशियन के स्वास्थ्य की जांच की गई। सेंटर के इंचार्ज डॉ. सुनील कुमार सिन्हा ने भी अपने स्वास्थ्य की जांच कराई। डॉ. सिन्हा ने कहा एनसीडी स्क्रीनिंग के तहत उच्च रक्तचाप, मधुमेह एवं तीनों प्रकार के सामान्य कैंसर जैसे-मुंह, गर्भाशय और स्तन कैंसर की जांच की जा रही है।
सेहतमंद रहने के लिए ये उपाय जरूरी :

गैर संचारी रोग नियंत्रण पदाधिकारी सह डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर के इंचार्ज डॉ. सुनील कुमार सिन्हा ने बताया जांच के दौरान स्वास्थ्य कर्मियों को सेहतमंद रहने के लिए कुछ जरूरी बातों को अमल में लाने पर भी जोर दिया जा रहा है।

.नियमित व्यायाम को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाएं।
.जीवनशैली बदलें, हमेशा संतुलित आहार लें।
.नियमित रूप से ब्लड प्रेशर और ब्लड शुगर की जांच करवाएं।
.पर्याप्त नींद लें, तनाव ना लें।
.तम्बाकू, शराब और धूम्रपान से करें तौबा।

हर मौके पर लोगों से तम्बाकू छोड़ने की अपील :
डॉ. सिन्हा ने बताया तम्बाकू नियंत्रण के जिला नोडल के रूप में वे हर मौके पर तम्बाकू से तौबा पर बल देते हैं। फिट हेल्थ वर्कर अभियान में भी यह प्रतिबद्धता दुहराई जा रही है। उन्होंने बताया तंबाकू का सेवन हर हाल में नुकसानदेह है। इससे दूर रहना चाहिए, क्योंकि इसकी लत जानलेवा साबित होती है। तंबाकू में मौजूद निकोटिन की वजह से तंबाकू के सेवन की लत लग सकती है, जिसका असर सारे शरीर पर पड़ता है। बालों का झड़ना, दांतों में सड़न, मोतियाबिंद, हृदय रोग, फेफड़े का कैंसर, पेट का अल्सर, विकृत शुक्राण, गैंग्रीन और बदरंग अंगुलियां तंबाकू सेवन के दुष्परिणाम होते हैं। तंबाकू मुंह के कैंसर का बहुत बड़ा कारण है। मुंह का कैंसर के मामले में देशभर में बिहार की स्थिति बहुत चिंताजनक है।

हर स्वास्थ्य केंद्र पर हो रही जांच :

डॉ. सिन्हा ने बताया कि फिट हेल्थ वर्कर अभियान के तहत हर स्वास्थ्य केंद्र पर स्वास्थ्य कर्मियों की जांच हो रही है। अभियान के तहत तीन सप्ताह तक सभी स्वास्थ्य कर्मियों की सेहत की जांच की जाएगी। जांच में फिट पाए गए स्वास्थ्य कर्मियों को कार्यक्रम की समाप्ति की अवधि में फिट हेल्थ वर्कर का सर्टिफिकेट देकर सम्मानित किया जाएगा। सभी स्वास्थ्य केन्द्रों पर बैनर-पोस्टर के जरिये कार्यक्रम कीअमित जानकारी दी गई है तथा जागरूकता अभियान चलाया गया है। शिविर में स्वास्थ्य कर्मियों को अपना स्वास्थ्य जांच कराने के लिए प्रेरित किया जा रहा है।
रिपोर्ट : अमित कुमार