Thu. Apr 15th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

मोतिहारी : ज्यादा जांच और जनजागरुकता को बनाया कोरोना से लड़ने का हथियार

2 min read

• पूर्वी चंपारण जिले में लोग जागरूक हुए तो 6000 प्रतिदिन के पार पहुंची कोरोना जांच की संख्या

• जांच करने गए स्वास्थ्य कर्मियों से अब झगड़ते नहीं, बल्कि उनका सहयोग करते हैं लोग

• जिले के कोविड केयर सेंटरों पर बेहतर सुविधाओं के कारण जल्द स्वस्थ होकर घर लौट रहे लोग

मोतिहारी 13 अगस्त : कोरोना (Corona) को मात देने के लिए जिला प्रशासन ने दो बिंदुओं पर अपना फोकस बढ़ा दिया है। इनमें एक है प्रतिदिन ज्यादा से ज्यादा लोगों की कोरोना जांच और दूसरी अहम चीज है जनजागरुकता। जिलाधिकारी शीर्षत कपिल अशोक खुद आये दिन शहर की सडकों पर लोगों को जागरुक करते नजर आ जाते हैं। जिलाधिकारी के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ’अर्ली डिटेक्शन’ के फार्मुले पर काम कर रही है। डीएम का मानना है कि जांच की रफ्तार बढाने का मकसद यह है कि इस वायरस की चपेट में आए लोग जितनी जल्द डिटेक्ट होंगे, उतनी जल्द वे ठीक भी होंगे। यह न केवल मरीज के लिए, बल्कि पूरे समाज के लिए बेहतर होगा। सिविल सर्जन डॉ रंजीत कुमार राय ने बताया कि जिले में प्रतिदिन रैपिड एंटीजन टेस्ट की संख्या बढाई जा रही है। बुधवार को यह संख्या 6000 के पार पहुंच गई। ज्यादा से ज्यादा टेस्ट (test) के साथ ही डेडिकेटेट कोविड केयर सेंटर (Dedicate Covid Care Center) में सुविधाओं की भी समीक्षा की जा रही है। उपचाराधीन मरीजों की बेहतर देखभाल के कारण रिकवरी रेट काफी उत्साहवर्घक है।

सुविधाओं को बढाने पर भी लगातार काम :

जिलाधिकारी ने गुरुवार को ढाका अनुमंडल में 70 बेडों का डेडिकेटेड कोविड केयर सेंटर का उद्घाटन किया। यहां माइल्ड और सिंप्टमेटिक लोगों को रखा जाएगा। यहां नि:शुल्क भोजन, दवा, ऑक्सीजन सिलेंडर, मेडिकल किट सहित सभी सुविधाओं की व्यवस्था की गई है।टेलीमेडिसिन सेंटर का टोल फ्री नंबर भी बड़ा मददगार साबित हो रहा है, जो 10 हंटिग लाइन के साथ जुड़ा है। टॉल फ्री नंबर 18003456624 पर संपर्क कर चिकित्सीय परामर्श, जांच की सुविधाओं की जानकारी, कोविड केयर सेंटर /डेडीकेटेड कोविडसेंटर कोविड हेल्थ (health) सेंटर में इलाज, बेड एवं एंबुलेंस से संबंधित जानकारी प्राप्त की जा सकती है। जिलाधिकारी ने लोगों को जानकारी देते हुए बताया है कि लोग इस नंबर पर संपर्क कर नि:शुल्क सारी सुविधाओं का लाभ ले सकते है

सख्ती की जगह अपनापन का भाव ला रहा रंग :

प्रशासन की ओर से नियमों का पालन कराने के लिए आम तौर पर सख्ती का सहारा लिया जाता है, लेकिन मोतिहारी में जिला प्रशासन का अपनापन का भाव रंग ला रहा है। महामारी के दौर में लोगों को कर्तव्य का बोध कराने के लिए जिलाधिकारी के नेतृत्व में प्रशासन की पूरी टीम जिस आत्मीयता से लोगों से संवाद कर रही है, वह रंग ला रहा है। लोग खुद सतर्क होने लगे हैं। वे अब बिना मास्क के घर से बाहर नहीं निकलते हैं। बाजार में या दुकानों पर उचित शारीरिक दूरी बनाकर सामान लेते दिखने लगे हैं। जिला प्रशासन की इच्छाशिक्त से समाज में आया यह बदलाव कोरोना को हराने में बडा अस़्त्र साबित हो सकता है। जहां सख्ती की जरूरत पडती है, वहां सख्ती से भी काम लिया जा रहा है।

अब स्वास्थ्य कर्मियों से नहीं झगड़ते हैं लोग :

जिला प्रशासन का जनजागरूकता अभियान रंग ला रहा है। पहले कोरोना जांच के लिए क्षेत्र में गए स्वास्थ्य कर्मियों से लोग झगड़ पड़ते थे, लेकिन अब वे खुद सहयोग करने लगे हैं। चकिया अनुमंडल के केयर बीएम कुन्दन कुमार रौशन बताते हैं कि लोगों में अब पहले से ज्यादा जागरूकता आई है। क्षेत्र में लक्षण महसूस होने पर लोग अब छुपाते नहीं है, बल्कि जांच कराते हैं। यही वजह है कि जिले में रिकॉर्ड (record) स्तर पर जांच (jach) होने लगी है। पॉजिटिव (Positive) आने पर लोग उतना घबराते नहीं हैं, क्योंकि जिले के डेडिकेटेड कोविड केयर सेंटर में बेहतर व्यवस्था (arrangement) के कारण लोग जल्द ठीक हो कर घर लौट रहे हैं।

रिपोर्ट : अमित कुमार