Sat. May 15th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

मुजफ्फरपुर : बरसात में हाथ धुला बच्चों को कोरोना और मानसून में होने वाले संक्रमण से रखें दूर

2 min read

– बच्चों में हाथ धोने के आदत को करना होगा विकसित
– आस-पास रखें साफ-सफाई का ख्याल,न जमने दें पानी
– बच्चों को सुलाने में करें हमेशा मच्छरदानी का प्रयोग

मुजफ्फरपुर 20 जुलाई : कोरोना (Corona) के साथ मानसून (Monsoon) ने बच्चों के स्वास्थ्य (Children’s health) को लेकर चिंताएं बढ़ा दी हैं। कोरोना संक्रमण (Infection) काल में खुद का तो ध्यान रखना ही होता है, साथ ही अपने बच्चों की देखभाल भी बड़ी चुनौती है। कोरोना संक्रमण को लेकर अपने बच्चों के मन से कोरोना के प्रति डर को हटाना होगा, उन्हें जागरूक करना होगा, वहीं उन्हें मानसून में होने वाले संक्रमण और मच्छर जनित रोगों से भी बचाना होगा। इस संबंध में जिला संचारी रोग नियंत्रण पदाधिकारी डॉ सतीश कुमार निम्नलिखीत बातों को अमल में लाने के लिए कहते हैं ताकि उन्हें कोरोना और मानसूनी बीमारियों (Bimari) को बचाया (Bachaye) जा सके।

घर में बना खाना ही दें
इस मौसम में बाहर का खाना बच्चे के लिए हानिकारक हो सकता है। ऐसे में अपने नन्हें मुन्ने को घर का बना खाना ही दें। इसके अलावा मानसून में स्टोर किए गए खाने में बैक्टिरिया जल्दी पनपते हैं, इसलिए रखे हुए खाने का इस्तेमाल न करें। वहीं बच्चों को मौसमी फल देना सही रहता है। इससे उनके रोगों की क्षमता भी बढ़ेगी।

20 सेकेंड की सीख दे
बच्चों को कोरोना का संक्रमण इसलिए भी ज्यादा हो सकता है क्योंकि छोटे बच्चों को हाथ (Hath) को धोने या सेनेटाइज (Sanitize) करने के बारे में ज्यादा पता नहीं है। बच्चे खेलते कूदते भी ज्यादा हैं, वे सतह के संपर्क में ज्यादा आ जाते हैं। इसके अलावा भी मानसून में बच्चों को इंफेक्शन का खतरा ज्यादा होता है। जिससे बुखार, खांसी, दस्त और मिर्गी भी बच्चे को घेर सकते हैं। इसलिए बेहतर है कि 20 सेकेंड के हाथ धोने के महत्व और तरीकों को सिखा कर बच्चे को कोरोना और मानसूनी बीमारियों से बचा जा सकता है। इसके साथ ही बच्चों को कम से कम बाहर निकालें। घर में उनका मन लगा रहे इसके लिए उन्हें रोचक गतिविधियों से जोड़े रहिए ताकि उनके मानसिक क्षमता का विकास हो।

मच्छरों को न होने दे पैदा
बारिश के आने के साथ ही डेंगू मलेरिया और कई तरह की बीमारियां फैलने लगती हैं। ऐसे में अपने घर को मच्छरों का घर बनने से पहले ही कुछ जरुरी बातों का ख्याल रखें। अपने घर में किसी भी जगह पानी इकठ्ठा न होने दें। कूलर, गमले और टब में रखे पानी को समय -समय पर साफ करें। बच्चों को हमेशा मच्छरदानी में ही सुलाएं।

साफ -सफाई का रखें ध्यान
बारिश के मौसम में जगह-जगह कीचड़ या गंदगी फैल जाती है। ऐसे मे आपको घर की सफाई का खास ख्याल रसखना होगा। कई बार बच्चे घर के फर्श पर ही बैठ जाते हैं, जिससे उन्हें इंफेक्शन होने का खतरा बना रहता है। ऐसे में अपने घर के फर्श की अच्छे से सफाई करें। समय-समय पर फर्श को फिनायल से भी धोएं, ताकि फर्श से किसी सभी तरह का इंफेक्शन बच्चे में न फैले।

रिपोर्ट : अमित कुमार