Wed. Apr 14th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

नालंदा : जिले में कोरोना का कहर है जारी,कई थानों के पुलिसकर्मी हुए कोरोना संक्रमित

1 min read

नालंदा (बिहार) : नालंदा (Nalanda) जिले में अपराध और कोरोना संक्रमण (Corona infection) दोनों एक साथ लगातार बढ़ रहे हैं। यह हम नहीं बल्कि सरकारी आंकड़े खुद अपने आप में बयां कर रही है गौरतलब है कि अब तक नालंदा जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 400 के पार कर चुकी है। जिसमें कई सुरक्षाकर्मी वरीय पदाधिकारी और आम जनता शामिल हैं। ताजा आंकड़ों की बात करें तो अब तक सोहसराय थाना क्षेत्र में 7 पुलिसकर्मी (Policeman), लहेरी में 5 पुलिसकर्मी,इस्लामपुर में एक चौकीदार,वेन थाना में दो पुलिसकर्मी,बिहार थाना में एक पुलिसकर्मी,एकंगरसराय थाना में 1 एक पुलिसकर्मी,करायपरशुराय थाना में 18 पुलिसकर्मी समेत कई ऐसे वरीय लोग कोरोना संक्रमित हो चुके है। वही कोरोंनाकाल में ड्यूटी पर तैनात सुरक्षाकर्मियों में लगातार बढ़ते संक्रमण को देखते हुए दहशत का माहौल देखा जा रहा है। सुरक्षाकर्मियों ने अपनी मजबूरी को बयां करते हुए बताया कि हम सरकार के नुमाइंदे हैं इसीलिए ड्यूटी करना ही हमारी पहली प्राथमिकता है। सुरक्षा मे लगे सुरक्षाकर्मियों ने कहा कि जिस तरह से ड्यूटी कर रहे हैं उस तरह से हमें ड्यूटी के दौरान उचित व्यवस्था नहीं की जा रही है। यही कारण है कि लगातार पुलिसकर्मी भी इस कोरोना के चपेट में आ रहे हैं।
वही इस कोरोना संक्रमण में लगातार बढ़ते आंकड़े को लेकर राजद ने भी राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा है। राजद के प्रदेश उपाध्यक्ष मनोज यादव ने कहा कि अगर इसी तरह से सुरक्षाकर्मियों में कोरोना संक्रमण बढ़ता रहा तो सुरक्षाकर्मी निश्चित तौर पर 14 दिनों के लिए होम क्वारंटाइन (Home quarantine) में चले जाएंगे और अपराधी अपने मांद से निकलकर अपराधिक घटनाओं को अंजाम देने में जुट जाएंगे। जिस तरह से कोरोना का संक्रमण लगातार सुरक्षाकर्मियों के बीच बढ़ता जा रहा है कहीं ना कहीं वह चिंता का विषय है क्योंकि हमारे सुरक्षाकर्मियों के ऊपर ही पूरे सूबे की सुरक्षा करने की जिम्मेदारी होती है इन सुरक्षाकर्मियों के द्वारा ही अपराधियों पर नकेल भी कसा जाता है लेकिन जब यही सुरक्षाकर्मी कोरोना संक्रमण की जद में आकर होम क्वारंटाइन हो जाएंगे तो निश्चित तौर पर अपराधियों की तूती सर चढ़कर बोलेगा। वैसे भी बिहार में पहले से ही अपराध चरम सीमा पर पहुंच चुकी है।

रिपोर्ट : गौरी शंकर प्रसाद