Tue. Apr 20th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

नालंदा : अपराधियों ने बाईक सवार को मारी गोली, हुई मौत…कारणों की तलाश मेन जुटी पुलिस

2 min read

गोली मारकर बाइक सवार की हत्या …

* तेलमर थाना क्षेत्र के चिरैयापर-भेड़िया रोड की घटना
* हरनौत बाजार से भेड़िया गांव लौटने के दौरान शुक्रवार देर शाम की घटना

नालंदा (बिहार) : (Nalanda) हरनौत तेलमर थाना (Harnaut Telmar Police Station) क्षेत्र के चिरैयापर पुल से सोराडीह होते भेड़िया जाने वाली सड़क पर अज्ञात अपराधियों ने शुक्रवार की देर शाम भेड़िया गांव निवासी 45 वर्षीय शंभू सिंह की गोली मारकर हत्या (Shot dead) कर दी। जबकि एक अन्य युवक सन्नी कुमार बचकर भागने में सफल रहा। इसकी जानकारी गांववालों को दी। जब तक लोग पहुंचते अपराधी भाग चुके थे। घटना में 5 अज्ञात लोगों के विरुद्ध एफआइआर (FIR) कराई गयी है।
मृतक के चचेरे भाई कारु सिंह ने बताया कि दो दिन पहले शंभू ने खेत में पटवन के लिए बोरिंग करवाई थी। यह काम कारु ने ही करवाया था। इसी बोरिंग को करवाने का खर्च देने शंभू शुक्रवार की शाम हरनौत बाजार आया था। बाइक नहीं चला पाने के कारण उसने इसके लिए गांव के ही सन्नी को साथ ले लिया था। हरनौत बाजार में कारु खुद टेंट आदि का काम करता है। शंभू ने उसे रुपये दिये। इसके बाद बाजार से कुछ खरीदारी करके वे गांव लौट रहे थे।
चिरैयापर पुल से सोराडीह- भेड़िया रोड में अभी वे सौ-डेढ़ सौ मीटर बढ़े होंगे। तभी सड़क के दोनों ओर लाठी लिये खड़े अपराधियों ने उनपर लाठी चला दी। इससे सवार बाइक सहित सड़क पर गिर गये। बाइक चला रहा सन्नी तो किसी तरह वहां से निकल भागा। शायद अपराधियों का टारगेट शंभू ही था। अपराधियों ने अंधेरे में उसपर तीन गोलियां चलाई। एक गोली शंभू की बाईं ओर कांख और दूसरी गर्दन के निकट लगी। तीसरी गोली खाली गई।
इधर, सन्नी नदी किनारे भागते हुए भेड़िया पहुंचा। उसकी मानें तो तीन अन्य अपराधी टॉर्च लेकर कुछ दूर तक उसके पीछे लपके। बाद में गांव पहुंचकर घटना की सूचना गांववालों को दी। पर, तब तक देर हो चुकी थी।
घटना के बाद वहां थानाध्यक्ष जितेंद्र कुमार सशस्त्र बलों के साथ पहुंचे। जबकि, अपराधिक घटनाओं के लिए संवेदनशील क्षेत्र होने के चलते घटना की सूचना पर एसपी (SP) नीलेश कुमार, डीएसपी (DSP) इमरान परवेज, एसडीओ (SDO) जनार्दन प्रसाद अग्रवाल, सीओ (CO) अखिलेश चौधरी भी वहां पहुंचे।
घटना की जानकारी लेने के बाद गांव में पूछताछ भी की गई। मौके पर ही मृतक के आश्रितों को पारिवारिक लाभ योजना से बीस हजार रुपये दिये गये। इसके अलावा कबीर अंत्येष्टि की राशि भी दी गई। पत्नी को रानी लक्ष्मीबाई पेंशन योजना का लाभ दिलाने का भी निर्देश दिया।

रिपोर्ट : गौरी शंकर प्रसाद