Fri. May 14th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

नालंदा : अवैध शराब कारोबार का विरोध करना पड़ा मंहगा.. ग्राम संगठन की अध्यक्षा और पुत्रवधू के साथ कारोबारियों ने की मारपीट

1 min read

नालंदा (बिहार) : हरनौत प्रखण्ड अंतर्गत कल्याण बिगहा ओपी के टांड़ापर गांव में अवैध शराब के कारोबारी ने प्रगति जीविका ग्राम संगठन की अध्यक्षा सोहगिया देवी और उसकी पुतोह गौरी देवी के साथ मारपीट की। उन्हें बचाने आयी गौरी देवी की विवाहिता पुत्री के साथ भी बदमाश और उसकी पत्नी ने बदसलूकी की। घटना का कारण गांव में अवैध रुप से चल रहे शराब के कारोबार का विरोध करना बताया जाता है।
इस संबंध में सोहगिया देवी ने ओपी में लिखित शिकायत की है।
सोहगिया देवी ने बताया कि गांव की महिलाओं के सहयोग से हमने वर्ष 2013 से ही गांव को शराबमुक्त बनाने का प्रयास शुरू किया है। इसके बाद महिलाओं की मांग पर सीएम ने राज्य में शराबबंदी करवाई। कुछ समय तक स्थिति ठीक थी।
पर, अब गांव की 80 फीसदी आबादी अवैध शराब के मकड़जाल में फंस चुकी है।
परिवार के कमाऊ सदस्य सारी कमाई शराब में उड़ा रहे हैं। इससे महिलाओं को घर चलाना मुश्किल हो रहा है। इसके चलते घरों में कलह बढ़ गई है। बच्चों की शिक्षा पर असर पड़ रहा है। वे भी बिगड़ रहे हैं।
ऐसे में ग्राम संगठन के माध्यम से हमने शराब कारोबारी के खिलाफ आवाज उठाई थी।
इसी क्रम में आज सुबह वे खंधे में बकरी चराकर लौट रहे थे। इसी दौरान शराब कारोबारी धूपन बिंद की पत्नी वहां आई और उसके पति के खिलाफ शिकायत को लेकर सोहगिया व उसकी पुतोह से गाली-गलौज शुरू कर दी।
इसका विरोध करने पर धूपन बिंद आया और उनसे मारपीट कर धमकी भी दी।

:: गांव की महिलाओं को मिल चुकी है सराहना

वर्ष 2013 में ग्राम संगठन के नेतृत्व में शराब कारोबारियों के विरूद्ध महिलाओं ने अभियान छेड़ा था। तब राज्य में शराबबंदी नहीं की गई थी। गांव में महिलाओं ने अपने बूते वर्ष 2016 तक गांव को शराबमुक्त रखा था।
तब इसके लिये स्थानीय पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों सहित डीएम व डीडीसी से भी इन्हें सराहना मिली थी। राज्य में शराबबंदी के बाद महिलाओं में जबरदस्त उत्साह था।
पर, महिलाओं की शिकायत है कि अब तो शिकायत करने पर उसकी खबर कारोबारियों को पहले हो जाती है।

रिपोर्ट : गौरी शंकर प्रसाद