Fri. May 14th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

नालंदा : प्याज उत्पादकों को नहीं मिल रहा उचित मूल्य…र्नियात बंद होने से हैं संकट में

1 min read

नालंदा (बिहार) : हरनौत प्रखंड के सेवदह और द्वारिकाबीघा प्रखंड में प्याज उत्पादन में अव्वल हैं। द्वारिकाबीघा में उत्पादित प्याज तो बंगलादेश तक जाते हैं। पर, कोरोना संकट में निर्यात बंद होने से स्थानीय बाजार में उपलब्धता बढ़ जाने के कारण इसका लागत निकालना भी मुश्किल हो रहा है।
अकेले सेवदह गांव में सौ बीघे में प्याज की खेती हुई है।
किसान पप्पू, मनोज, रौशन व अन्य बताते हैं कि प्रति बीघा खेती में 25 से 30 हजार तक की लागत आ जाती है। पर, बाजार में 20 से 22 हजार से ज्यादा देने को व्यापारी तैयार नहीं है।
ऐसे में अगर दस-पंद्रह दिन में प्याज नहीं बिके तो सड़ने की नौबत आ जायेगी।
द्वारिकाबीघा के वरीय किसान रामजी सिंह कहते हैं कि कोरोना संकट से भी भारी संकट प्याज उत्पादकों पर आने की आशंका है। सेवदह के चंद्रउदय ने कहा कि सरकारी स्तर से प्याज खरीद की व्यवस्था हो। अन्यथा किसानों के समक्ष आत्महत्या की नौबत आ सकती है।

रिपोर्ट : गौरी शंकर प्रसाद