Sun. May 16th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

नालंदा : असमय बारिश से किसानों की क्षति का आंकड़ा बढ़ा..मुआवजा के लिए आवेदन को मिलेगा एक और मौका

1 min read

नालंदा (बिहार) हरनौत : बेमौसम बरसात ने प्रखंड में रबी फसल की क्षति का आंकड़ा बढ़ा दिया है। दलहन और तेलहन तो पिछले माह ही जीरो पर आऊट हो गये थे। जबकि, इस माह हुई बारिश से गेहूं की फसल की क्षति का आंकड़ा भी पचास फीसदी को पार कर गया। हालांकि फसल की ताजा क्षति से पेशोपेश में पड़े किसानों को मुआवजा के लिये कृषि विभाग ने आवेदन का एक और मौका दिया है।
प्रखंड कृषि पदाधिकारी रामदेव राम ने बताया कि मार्च महीने में दो बार भारी वर्षापात और ओलावृष्टि हुई थी। महीने के अंत में गई क्षति की रिपोर्ट के अनुसार दलहन और तेलहन फसल की क्षति प्रखंड में शत-प्रतिशत है। जबकि, गेहूं की फसल को तीस से चालीस फीसदी क्षति की गणना की गई थी।
पर, इस महीने हुई बारिश में गेहूं की काफी फसल खेत में खड़ी, काट कर अथवा बोझा बनाकर रखी गई थी, जिसके नुकसान को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। इसमें क्षति बढ़कर पचास से साठ फीसदी तक पहुंच गई है।

:: चार मई से कर सकते हैं आवेदन

बीएओ ने बताया कि कृषि इनपुट से फसल क्षति मुआवजा को आवेदन करने से वंचित किसानों को विभाग से एक और मौका मिलेगा। वे चार मई से 11 मई तक ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे।
सिंचित क्षेत्र में प्रति हेक्टेयर 13,500 रुपये व असिंचित क्षेत्र में 6800 रुपये मुआवजा देय होगा। न्युनतम एक हजार रुपये तक मुआवजा राशि दी जायेगी। पहले से आवेदन कर चुके किसानों को आवेदन करने की जरुरत नहीं होगी।

रिपोर्ट : गौरी शंकर प्रसाद