Tue. Apr 20th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

पटना : निजी विद्यालयों द्वारा दो महीने की फीस न वसूलने को लेकर जारी सरकारी आदेश पर बिफरा एसोसिएशन.. मुख्यमंत्री से आदेश वापस लेने की मांग की

1 min read

पटना : प्राइवेट स्कूल एंड चिल्ड्रेन वेलफेयर एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सैयद शमायल अहमद ने मंगलवार को मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर शिक्षा विभाग के द्वारा जारी आदेश को रद्द करने की मांग की है।बताते चलें कि सोमवार को आदेश जारी कर शिक्षा विभाग ने निजी स्कूलों को मार्च एवं अप्रैल माह की फीस एवं ट्रांसपोर्ट फीस लेने से मना किया है।एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर आग्रह करते हुए बताया कि चूँकि निजी विद्यालय एक अलाभकारी संस्था है और इन विद्यालयों पर 5 लाख से भी अधिक कर्मचारियों एवं उनके परिजन निर्भर हैं विद्यालय संचालक अभिभावकों से फीस लिए बगैर अपने कर्मचारियों को वेतन दे पाने में असमर्थ हैं।प्रदेश के कई ऐसे विद्यालय हैं जो किराए के भवन में चलते हैं,वो कहां से किराया दे पाएंगे।उन्होंने अपने पत्र में कहा कि शिक्षा विभाग के द्वारा जारी आदेश बिल्कुल ही अव्यवहारिक है,जो निजी विद्यालयों के संचालकों और उनसे जुड़े लाखों लोगों को मरने के लिए विवश करता है।सम्भव है इसके दूरगामी दुष्परिणाम देखने को मिलेंगे।यदि सरकार निजी विद्यालयों के लिए राहत की घोषणा करे,किराए के मकानों में चल रहे विद्यालयों का किराया,बिजली बिल,विद्यालय से जुड़े वाहनों का सभी प्रकार का टैक्स का भुगतान सहित विद्यालय कर्मियों और उनपर निर्भर परिजनों के लिए राशन-पानी की व्यवस्था और अन्य खर्चों का भार वहन करे तो शिक्षा विभाग का आदेश स्वागत योग्य है।उन्होंने कहा कि निजी विद्यालयों को समाज अपना सहयोगी समझें,दुश्मन नहीं।

रिपोर्ट : विवेक कुमार यादव