Tue. Apr 20th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

पटना : सरकार की प्राथमिकता है प्रवासियों के रोजगार की व्यवस्था करना कहा.सूचना सचिव ने, साथ ही कोरोना के खिलाफ मजबूती से लड़ी जा रही जंग

2 min read

कोरोना संक्रमण की वर्तमान स्थिति की समीक्षा माननीय मुख्यमंत्री
द्वारा निरंतर की जा रही है- सचिव सूचना

पटना 25 मई 2020 : (Patna) कोरोना (Corona) संक्रमण की वर्तमान स्थिति को लेकर माननीय मुख्यमंत्री द्वारा निरंतर समीक्षा की जा रही है और उनके निर्देश पर सभी आवश्यक कदम उठाये जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने आज उच्चस्तरीय समीक्षा के क्रम में कहा कि वर्तमान में कोविड संक्रमण (Covid infection) से सुरक्षा और प्रवासी श्रमिकों को रोजगार दिलाना सरकार की सर्वोच्च (Top) प्राथमिकता है। अब तक बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर बिहार आ चुके हैं और उनके आने का सिलसिला अभी भी निरंतर जारी है। इनमें काफी लोग कोरोना पॉजिटिव (Positive) पाये जा रहे हैं। बड़ी संख्या में प्रवासी श्रमिक आ रहे हैं जिसको ध्यान में रखते हुए सभी जिलों के आइसोलेशन वार्ड (Isolation ward) में बेडों की संख्या बढ़ाने की आवश्यकता है। इसके अलावा कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुये डेडिकेटेड (dedicated) कोविड अस्पतालों में बेड की संख्या बढ़ाते हुये पूरी तैयारी रखने की जरूरत है। प्रवासी मजदूरों के उनकी स्किल के अनुसार उन्हें प्राथमिकता के आधार पर रोजगार दिलाने की व्यवस्था (arrangement) हेतु लगातार निदेश दिये जा रहे हैं। सभी संबंधित विभाग इसका अनुश्रवण करें। ऐसी व्यवस्था करें कि सभी को यहीं रोजगार मिले, किसी को अकारण बाहर नहीं जाना पड़े। माननीय मुख्यमंत्री ने कहा कि जो लोग क्वारंटाइन सेंटर (Quarantine Center) पर क्वारंटाइन की निर्धारित अवधि पूरा कर या अस्पताल से डिस्चार्ज होकर अपने घर जा रहे हैं, उनके प्रति सकारात्मक रहें। उनसे संक्रमण का कोई खतरा नहीं है। रोजगार सृजन पर सभी संबंधित विभाग विशेष ध्यान दे रहे हैं। लॉकडाउन पीरियड (Lockdown period) में अभी तक कुल 4 लाख 24 हजार 432 योजनाओं में 3 करोड़ 32 लाख 61 हजार 829 मानव दिवस सृजित किये गये हैं। उन्होंने बताया कि प्रवासी मजदूरों को लेकर आज कुल 119 ट्रेनें आ रही हैं जिनमे 1 लाख 96 हजार 350 लोग ट्रेवल कर रहे हैं। कल के लिए 108 ट्रेनें शिड्यूल्ड हैं जिससे 1 लाख 76 हजार 900 लोग ट्रेवल करेंगे। काफी बड़ी संख्या में लोग आ रहे हैं और सभी इस काम में पूरी मेहनत से लगे हुए हैं। आपदा राहत केन्द्रों की संख्या 114 है जिसका 40,417 लोग लाभ ले रहे हैं। ब्लॉक (block) क्वारंटाइन सेंटर्स की संख्या 14,472 हो गयी है जहाँ 11 लाख 03 हजार 957 लोग आवासित हैं। मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष से मुख्यमंत्री विशेष सहायता योजना अंतर्गत 20 लाख 37 हजार 443 परिवारों को 1,000 रूपये की सहायता राशि प्रदान की जा चुकी है।
पिछले 24 घंटे में कोरोना के 143 पॉजिटिव मामले सामने आये हैं। अब तक कुल 66,148 सैम्पल्स की जांच की गयी है जिसमे 2,650 व्यक्तियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। 24 घंटे में 27 लोग स्वस्थ (healthy) होकर अपने घर लौटे हैं। अब तक कुल 729 लोग स्वस्थ हुये हैं। बिहार में फिलहाल कोरोना संक्रमण के 1,907 एक्टिव मामले हैं। क्वारंटाइन सेंटर पर सैंपल लेकर लगातार जांच की जा रही है। 3 मई के बाद बिहार आने वाले 1,754 प्रवासियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है जिसमे नई दिल्ली से 411, महाराष्ट्र से 403, गुजरात से 276, हरियाणा से 146, राजस्थान से 95, उत्तर प्रदेश से 89, तेलांगना 81 सहित अन्य राज्यों से आने वाले प्रवासी शामिल हैं।लॉकडाउन का सख्ती से अनुपालन कराया जा रहा है। अब तक कुल 2,208 एफ0आई0आर0 दर्ज (Enter FIR) की गयी है और 2,368 लोगों की गिरफ्तारियां हुयी हैं। 80,007 वाहन जब्त किये गये हैं। अब तक इससे कुल 18 करोड़ 85 लाख 47 हजार 736 रूपये की राशि जुर्माने के रूप में वसूल की गयी है। पिछले 24 घंटे में अवरोध पैदा करने के कारण 10 एफ0आई0आर0 दर्ज की गयी हैं और 08 लोगों की गिरफ्तारियां हुयी हैं। 744 वाहन जब्त किये गये हैं और 19 लाख 34 हजार रूपये जुर्माने के रूप में वसूल किये गये हैं। कोविड-19 से निपटने के लिये उठाये जा रहे कदमों और लॉकडाउन का पालन करने में अवरोध पैदा
करने वालों के खिलाफ सख्ती से कदम उठाये जा रहे हैं।

रिपोर्ट : राजू राज