Tue. Apr 20th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

पटना : कोरोना संक्रमण को रोकने की दिशा में सरकार कर रही है अथक प्रयास… बाहर से आने वाले सभी प्रवासियों की समुचित व्यवस्था में जुटी है सरकार

2 min read

सचिव सूचना एवं जन-सम्पर्क, सचिव स्वास्थ्य, अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस मुख्यालय एवं नोडल पदाधिकारी आपदा प्रबंधन ने कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर किये जा रहे कार्यों की अद्यतन जानकारी दी

पटना 26 मई 2020 : (Patna) मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार (nitish kumar) के निर्देश पर सचिव सूचना एवं जन-सम्पर्क श्री अनुपम कुमार, सचिव स्वास्थ्य (Secretary Health) श्री लोकेश कुमार सिंह, अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस मुख्यालय श्री जितेन्द्र कुमार एवं नोडल पदाधिकारी आपदा प्रबंधन श्री संजय कुमार सिंह ने कोरोना (corona) संक्रमण की रोकथाम को लेकर सरकार द्वारा किये जा रहे कार्यों के सम्बन्ध में अद्यतन जानकारी दी।

सचिव सूचना एवं जन-संपर्क श्री अनुपम कुमार ने बताया कि कोरोना संक्रमण की अद्यतन स्थिति को लेकर माननीय मुख्यमंत्री जी के स्तर पर लगातार गहन समीक्षा की जा रही है और लोगों को सहायता प्रदान करने के लिये सभी आवश्यक कदम उठाये जा रहे हैं। आज भी माननीय मुख्यमंत्री द्वारा मुख्य सचिव के साथ पूरी स्थिति की समीक्षा की गयी। विभिन्न राज्यों से बड़ी संख्या में प्रवासी श्रमिक बिहार आ रहे हैं, उन सभी को रिसीव किया जा रहा है और हर इच्छुक व्यक्ति को यथाशीघ्र लाने के लिए पूरी क्षमता के साथ कार्य किया जा रहा है। इसके लिए पर्याप्त संख्या में ट्रेनें चलाई जा रही है। मुख्य सचिव ने कहा है कि बिहार सरकार का स्पष्ट निर्णय है कि बिहार से बाहर फॅसे बिहार के सभी इच्छुक लोगों को वापस लाया जायेगा। महाराष्ट्र सरकार प्रवासी बिहारियों को महाराष्ट्र से वापस भेजने के लिये जितनी भी संख्या में टेªनें भेजना चाहती है, भेज सकती है। दिनांक- 25.05.2020 तक महाराष्ट्र से कुल 130 ट्रेनें (trains) बिहार आ चुकी है, जिसके माध्यम से 1 लाख 93 हजार 761

बिहार के लोग महाराष्ट्र से बिहार आ गये हैं। इसके अतिरिक्त दिनांक- 28.05.2020 तक के लिये कुल 38 ट्रेनें शिक्षडयूल्ड की जा चुकी हैं। वर्तमान में महाराष्ट्र सरकार द्वारा दिनांक- 26. 05.2020 को 24 ट्रेनों को बिहार भेजने के संदर्भ में सूचना दी गयी है। अगर महाराष्ट्र सरकार इससे ज्यादा संख्या में भी ट्रेनें भेजना चाहती है तो भेज सकती है। हमें कोई समस्या नहीं है,

हम पूरी तरह तैयार हैं।

श्री अनुपम कुमार ने बताया कि माननीय मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है कि जितने भी लोग बाहर से आये हैं उन सबकी डोर टू डोर स्क्रीनिंग की जाय। डोर टू डोर स्क्रीनिंग के बाद इसका फॉलोअप भी किया जाय। यानी जितना अधिक संभव हो, हम ट्रैकिंग (Tracking) करें। टेस्टिंग (testing)

क्षमता 10,000 तक बढ़ाने पर विशेष बल दिया गया है ताकि अधिक से अधिक टेस्ट कर कोरोना संक्रमण का जो चेन है, उसे हम जल्द से जल्द रोक सकें। प्रवासी श्रमिकों के लगातार कॉल्स/मैसेजज आ रहे हैं और अभी तक लगभग 2 लाख 30 हजार कॉल्स/मैसेजज आये हैं जिनमे 30 लाख 85 हजार लोग सम्मिलित हैं। राशन कार्ड विहीन परिवारों के लिए अभी तक 10 लाख 5 हजार नये राशन कार्ड (Ration card) बनाये जा चुके हैं। असामयिक

वर्षापात और ओलावृष्टि के कारण फरवरी, मार्च और अप्रैल माह में बड़े पैमान पर फसल क्षति हुई थी। किसानों को फसल क्षति के लिए कृषि इनपुट अनुदान उपलब्ध कराने हेतु तीन चरणों में 730 करोड़ रूपये की राशि स्वीकृत की गयी जिसमे फरवरी के लिए 60 करोड़, मार्च के 518.42 करोड़ और अप्रैल के लिए 151.53 करोड़ रूपये की राशि सम्मिलित है। इसमें से अभी तक कृषि विभाग द्वारा 402.75 करोड़ रूपये की राशि 11 लाख 56 हजार किसानों के बीच वितरित कर दी गयी है। यह प्रक्रिया तेजी से आगे बढ़ायी जा रही है ताकि किसानों को राहत मिल सके। अधिक से अधिक रोजगार सृजित हो, इसके लिए सभी संबंधित विभाग गंभीरतापूर्वक कार्य करते हुए निरंतर इसका अनुश्रवण भी कर रहे हैं। लॉकडाउन पीरियड के दौरान 4 लाख 26 हजार से अधिक योजनाओं में अब तक 3 करोड़ 46 लाख से अधिक मानव दिवसों का सृजन किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि आज कुल 109 ट्रेनें आ रही हैं

जिनमे 1 लाख 79 हजार 850 लोगों के पहुँचने की संभावना है। कल के लिए 117 ट्रेनें शिड्यूल्ड हैं जिनसे 1 लाख 93 हजार से कुछ अधिक लोग आयेंगे। अब तक 1026 ट्रेनों से 15 लाख 41 प्रवासी श्रमिक बिहार पहुँच चुके हैं। इसके अलावा अभी तक 321 ट्रेनें और प्लान

हो चुकी है जिनके माध्यम से 5 लाख 29 हजार 650 लोग आयेंगे। इस प्रकार अब तक 1347 ट्रेनें शिड्यूल का जा चुकी हैं जिनके माध्यम से 20 लाख 29 हजार 691 प्रवासी श्रमिक आयेंगे।

स्वास्थ्य विभाग के सचिव श्री लोकेश कुमार सिंह ने बताया कि पिछले 24 घंटे मेंकोरोना के 220 नये मामले सामने आये हैं और अब कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 2,870 हो गयी है। 24 घंटे में 71 लोग स्वस्थ होकर अपने घर लौटे हैं। अब तक कुल 800 लोग

स्वस्थ हुये हैं। बिहार में फिलहाल कोरोना संक्रमण के 2,077 एक्टिव मामले हैं। क्वारंटाइन सेंटर (Quarantine Center) पर सैंपल (Sample) लेकर लगातार जांच की जा रही है। 3 मई के बाद बिहार आने वाले 1,900 प्रवासियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है जिसमें महाराष्ट्र से 447, दिल्ली से 428, गुजरात से 287, हरियाणा से 166, राजस्थान से 102, पश्चिम बंगाल से 85 सहित अन्य राज्यों से आने वाले प्रवासी श्रमिक शामिल हैं।

अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस मुख्यालय श्री जितेन्द्र कुमार ने बताया कि लॉकडाउन (Lockdown) का सख्ती से अनुपालन कराया जा रहा है। अब तक कुल 2,217 एफ0आई0आर0 (F.I.R.) दर्ज की गयी है और 2,376 लोगों की गिरफ्तारियां हुई है। 80,577 वाहन जब्त किये गये हैं। अब तक इससे कुल 19 करोड़ 2 लाख 9 हजार 736 रूपये की राशि जुर्माने के रूप में वसूल की गयी है। पिछले 24 घंटे में अवरोध पैदा करने के कारण 9 एफ0आई0आर0 दर्ज की गयी हैं और 8 लोगों की गिरफ्तारियां हुई है। 570 वाहन जब्त किये गये हैं और 16 लाख 62 हजार रूपये जुर्माने के रूप में वसूल किये गये हैं। कोविड-19 से निपटने के लिये उठाये जा रहे कदमों और लॉकडाउन का पालन करने में अवरोध पैदा करने वालों के खिलाफ सख्ती से कदम उठाये जा रहे हैं।

नोडल पदाधिकारी आपदा प्रबंधन श्री संजय कुमार सिंह ने बताया कि वर्तमान में 111 आपदा राहत केंद्र फंक्शनल है जिनका 27,000 हजार लोग लाभान्वित हो रहे हैं। वही ब्लॉक क्वारंटाइन सेंटर की संख्या 13,971 है जहाँ 11 लाख 53 हजार 800 लोग आवासित हैं।

रिपोर्ट : राजू राज