Wed. Oct 21st, 2020

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

बेरोजगारी के खिलाफ त्रिवेणीगंज में हल्ला बोल व विरोध मार्च

1 min read

सुपौल-रोजगार मांगे इंडिया के बैनर तले त्रिवेणीगंज में छात्रों ने रोजगार की मुद्दों को लेकर आक्रोश मार्च निकाल केंद्र सरकार को लिया आड़े हाथ लिया है।रोजगार की मांग व रेलवे, जहाज, एलआईसी,एचपीसीएल, यूनिवर्सिटी आदि के निजीकरण के खिलाफ व प्रतियोगी छात्रों के संयुक्त कार्यक्रम के तहत” बेरोजगारी मार्च निकाल कर विरोध जताया है।
इस कार्यक्रम के तहत मंगलवार को त्रिवेणीगंज के सैकड़ों छात्र नौजवान एवं शिक्षक समाज ने शहर के विज्ञान महाविद्यालय से अनुमंडल कार्यालय तक बैनर पोस्टर लिए विरोध प्रदर्शन किया है। कार्यक्रम में शामिल छात्र”युवा मांगे रोजगार, नहीं तो हर महीने दो दस हजार” “रेलवे व अन्य कंपनियों का निजीकरण बंद करो” “रेलवे का सरेंडर किए हुए पद वापस लो” “पिछली सभी प्रतियोगिता परीक्षा का प्रक्रिया पूरा कर अविलंब बहाली करना होगा सहित सभी रिक्त पदों पर अविलंब भर्ती लो, गगनभेदी नारे लगा रहे थे। कार्यक्रम की संबोधित करते छात्र ई.प्रवेश प्रवीण,नीतीश यादव,रमाकांत यादव,राणा सिंह ने कहा कि हमारे देश में सरकारी नौकरी की चाहत सिर्फ निम्न व मध्यम वर्गीय परिवार के छात्र रखते हैं. वह इतना कठिन परिश्रम, समय व पैसा का त्याग कर प्रतियोगिता परीक्षा में शामिल होते हैं लेकिन वर्तमान केंद्र व राज्य की सरकार इन्हें रोजगार से वंचित रखने के लिए परीक्षा रद्द करने से लेकर तमाम तरह के हथकंडे अपनाती है। नौकरी की आस में बैठे छात्रों को फॉर्म भरने से लेकर तीन वर्ष में भी पूरी प्रक्रिया पूरी नहीं हो पाती है. छात्र- नौजवान के भविष्य से खिलवाड़ करने वाली यह सरकार कोराना महामारी के आड़ में रेलवे, एलआईसी, एयर इंडिया आदि कंपनियों को बेच रही है. हम कार्यक्रम के माध्यम से यह मांग करते हैं कि रेलवे व अन्य कंपनियों को बेचने का फैसला तुरंत वापस लो, रेलवे के सरेंडर पदों से सभी विभाग में वैकेंसी निकालो तथा पुराने सभी प्रतियोगिता परीक्षा को पूरा कर सभी को रोजगार दो नहीं तो देश के छात्र- नौजवान जोरदार आंदोलन करते रहेंगे।इस मौके पर अखिलेश यादव,अभिषेक यादव,विजय यादव,रणवीर यादव,आदित्य राज मेहता,राहुल,सुधाकर,नीतीश आनन्द,रौहन राज,अभय,गोलू,गौतम,रिकेश,राघव, सोनू ,चचंल,चन्दन,प्रधुम्न, आदि सैकड़ो लोग शामिल थे।