Tue. Apr 20th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

रक्सौल : भारत.नेपाल सीमा पर प्रवासी मजदूरों का लगा जमावड़ा.. समाजसेवियों ने भोजन का उठा रखा है जिम्मा

1 min read

रक्सौल : कोरोना महामारी को लेकर जारी लॉकडाउन में मजदूरों का भरण पोषण काफी मुश्किल हो गया है।भारतीय कामगार पड़ोसी देश नेपाल में जाकर पछता रहे हैं। उधर सीमा सील होने के कारण दो देशों के नियम के तहत लोग इधर-उधर भटकने को विवश हैं। जब मजदूरों को कोई उपाय नहीं सूझा तो वे जैसे तैसे सीमा पर पहुँच गये है। अभी ताजा मामला के अनुसार लगभग 50 की संख्या भारतीय नागरिक अपनी जान जोखिम में डालकर भारत-नेपाल बॉर्डर पर पहुँचे हैं। जिन्होंने बताया कि उनके छोटे-छोटे हैं। अभी 2 दिन पहले ही एक महिला ने बच्चे को जन्म दिया है। वे लोग अपने घर यूपी के शाहजहांपुर जाना चाहते हैं और प्रशासन से आग्रह कर रहे हैं कि जैसे भी उनके आशियाँ तक पहुँचाया जाये। वहीं दूसरी ओर लगभग 70 की संख्या में नेपाली लोग भारत के अन्य राज्यों से बस के द्वारा रक्सौल आयें है, जो नेपाली नागरिक है और अब वे नेपाल जाना चाहते हैं, जिन्हें फिल्हाल प्रशसन ने रोक रखा है। अब देखने वाली बात है कि इन वेवशों का सहारा कौन बन रहा है और क्या ये अपने घर जा पाएंगे। वहीं इन लोगों का फिल्हाल मशीहा श्रीराम पथ के लोग व रंजीत सिंह बने हुए हैं, जिन्होंने इन भूखे को भोजन कराने का जिम्मा लिया है। श्रीराम पथ के लोग राम रसोईया द्वारा भोजन करा रहे हैं तो रंजीत सिंह समाज सेवा के लिए अकेले बीड़ा उठाये हैं, जिनके साथ लोग कदम मिला रहे हैं। उक्त बावत श्रीराम पथ के जीतन चौरसिया ने बताया हमारा मकसद है कि हमारे रहते कोई भूखे नहीं सोयेगा। वहीं रंजीत सिंह ने कहा कि जब तक मेरी सांस है कोई भी भूखा नहीं रहेगा, बस मुझे जानकारी होनी चाहिए। मेरे रक्त का एक-एक कतरा जरूरतमंदों के लिए है।

                                  रिपोर्ट : विशाल कुमार