Sun. Apr 11th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

सीतामढ़ी : कोरोना केयर सेंटर में सभी संक्रमितों में है मामूली लक्षण.. शाकाहार के साथ साथ फल,दूध का कर रहे सेवन

1 min read

सीतामढ़ी 14 मई : कोविड-19 के 80 प्रतिशत मामलों में हल्के लक्षण होते हैं। जबकि 5 प्रतिशत लोगों को ही ईलाज और वेटिंलेटर की जरुरत होती है। ये वह लोग होते हैं जिन्हें पहले से ही किसी तरह की बीमारी होती है या उनकी रोग प्रतिरक्षण क्षमता बहुत ही कम होती है। उक्त बातें जिला नोडल सह संचारी रोग रोकथाम नियंत्रण पदाधिकारी डॉ. रविन्द्र कुमार यादव ने बतायी. उन्होंने बताया जिले में जो भी कोरोना संक्रमित भर्ती हैं उनमें कोरोना के मामूली लक्षण ही हैं। बुधवार को ही एक मरीज की यहां से छुट्टी हुई है। इसके पहले एनएमसीएच पटना से एक व्यक्ति को पहले ही छुट्टी दी जा चुकी है। एक अभी पटना में ही भर्ती हैं। आशा है कि वह भी जल्द ठीक हो जाएगीं। कोरोना संक्रमण का असर आपके इम्यून सिस्टम के आधार पर होता है। इसे बढ़ा कर इस बीमारी के दुष्प्रभावों से बचा जा सकता है। जब तक इसका ईलाज या टीका नहीं ढूंढा जाता । हमें अपने जीवन में कुछ बदलावों को लाकर ही जीवन का पहिया चलाना होगा।

ऐसे हो रहा संक्रमितों का ईलाज:
डॉ. रविन्द्र कहते हैं जिले के कोरोना केयर सेंटर में अभी 4 मरीज भर्ती हैं। उनमें से सभी को अगल रुम दिया गया है। रोस्टर के अनुसार डॉक्टर नियुक्त किए गये हैं। रोग प्रतिरोधक क्षमता का विकास करने के लिए सबसे जरुरी है कि आपकी दिनचर्या और खान -पान संयमित हो। इसलिए उन्हें यहां पर सुबह में फल और दूध दिया जाता है। उसके बाद रोटी और सब्जी का नाश्ता दिया जाता है। दोपहर में दाल-चावल और सब्जी और रात में भी रोटी सब्जी और दूध दी जाती है। जो अंडा खाते हैं उनको उबला अंडा भी दिया जाता है। सभी मरीज को एक बाथरुम संयुक्त कमरा दिया गया है। जिस संक्रमित में जो लक्षण हैं उनका लक्षण आधारित ईलाज किया जा रहा है। साथ में उन्हें डिग्निटी किट भी दी गयी है। रुम के बाहर एक टेबल रख दिया गया है, जहां उनका खाना रख दिया जाता है। इनके इलाज में लगे चिकित्सकों को भी एक होटल में रखा जा रहा है। अंदर की साफ -सफाई नियमित तौर पर होती है। वहीं एक झाड़ू भी रख दिया गया है ताकि जरुरत पर यह भी अपने रुम को साफ कर सके। वहीं मनोरंजन के लिए उन्हें अखबार भी दिया जा रहा है।

स्वस्थ हो चुके संक्रमित ने जताया आभार:

बुधवार को स्वस्थ हुए व्यक्ति ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को कोरोना मुक्त होने पर आभार जताया। उसने कहा कि उसे ऐसी व्यवस्था मिलेगी इसकी कल्पना उसने नहीं की थी। कोरोना मुक्त हुए व्यक्ति ने केयर सेंटर के विषय में जानकारी देते हुए बताया कि केयर सेंटर पर सभी डॉक्टर सहित कर्मचारी का भावनात्मक सहयोग मिला। इससे उसके मनोबल में काफी वृद्धि मिली। वह यहां से निकलकर होम कोरेंटाइन होंगे. अब वह अन्य लोगों को भी मास्क पहनने तथा सोशल डिस्टेसिंग के नियमों के पालन के लिए सभी को प्रेरित करेंगे।

                             रिपोर्ट : अमित कुमार