Fri. May 14th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

सुगौली : शराब बंदी के बावजूद शराब की बिक्री है जारी, वार्ड पार्षद के आवेदन के बाद भी पुलिस ने नहीं की कोई कारवाई

2 min read

सुगौली : बिहार (Bihar) सरकार लगातार अपनी पूरी मेहनत लगा रही है शराबबन्दी (Prohibition) अभियान को सफल बनाने में लेकिन ये बिहार है साहब यहाँ के लोग ईतने अच्छे है की जिस गलत कार्य को रोकने के लिए आप लाख दावे और भरपुर मेहनत कर ले कुछ लोग तो आपके मेहनत पर पानी फिराने के चक्कर मे लगे ही रहते है। प्रशासन के सभी थानो द्वारा अपने-अपने थाने के बॉर्डर पर अगर ईमानदारी से कार्य किया जा रहा है तो ये शराबमाफिया कैसे शराब को दूसरे राज्य से बिहार राज्य में लाकर बिहार सरकार के शराबबंदी अभियान की धज्जियां उड़ा रहे है और बिहार में शराब बंदी के बाद भी ये बड़ी आसानी से शराब को कैसे बेधड़क बेच लेते है ।

वही सुगौली में अगर पुलिस चलती है डाल डाल तो शराबमाफिया चलते है पात पात।

सुगौली में कुछ दिन पहले एक ट्रक में लोड बिदेशी शराब को सुगौली थानाध्यक्ष द्वारा पकड़ा गया (Bideshi liquor caught by Sugauli police station) था उसके बाद एक व्यक्ति को फौरन गिरफ्तार भी किया गया लेकिन उसके बाद एफआईआर में नाम दर्ज तो हुआ शराब माफियाओं का बाकी की गिरफ्तारी सिर्फ कागज के पन्नों में सिमट कर रह गई 10 दिन बीत जाने के बाद भी कोई गिरफ्तारी नही आखिर ये क्यों होता है अगर जब आपने शराब की ईतनी बड़ी खेप को बरामद कर लिया उसमे एक को गिरफ्तार भी किया तो फिर बाकी के नुमाइंदों को पुलिस अभी तक गिरफ्तार क्यों नही कर रही है। रही बात शराब बिकने की सुगौली में अवैध शराब की बिक्री लॉक डाउन के बावजूद शराब बेची जा रही है । वही बीते सप्ताह सुगौली नगर पंचायत के वार्ड 4 में जहाँ के वार्ड पार्षद शैलेश पटेल और साथ ही जदयू के पार्टी के नेता भी है ये लगातार अपने वार्ड में दो व्यक्तियो द्वारा बेची जा रही गैरकानूनी रूप से शराब की बिक्री रोकने के लिए पूरे वार्ड के जनता की सहमती से सुगौली थाना में आवेदन दिया आवेदन देने के उपरान्त किसी प्रकार की कोई जाँच या कार्यवाही नही हुई ।
वार्ड पार्षद की शिकायत पर थानाध्यक्ष ने कोई करवाई नही की तो थक हारकर वार्ड पार्षद गए एसपी साहब के दरबार में वार्ड साहब ने पूरे कानुनी तरीके से एसपी साहब से लेकर डीएम साहब,डीएसपी साहब यहा तक की अपने पार्टी में मुखिया और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के यहाँ भी आवेदन दे कर शराब रोकने की बात कही जब कही से कुछ नही हुआ तो एसपी साहब ने तुरंत मामले को देखते हुए थानाध्यक्ष को आदेश दिया की ईस मामले की जांच कर दोषियों पर तुरंत करवाई करे लेकिन वार्ड साहब ने बताया की कोई कार्यवाई थानाध्यक्ष द्वारा नही की गईं है और शराब बेचने वाले आराम से शराब बेच रहे है और बिरोध करने पर मारपीट करने पर उतारू हो जा रहे है।
वार्ड पार्षद शैलेश पटेल ने बताया की हमारे वार्ड में ही जहरीली शराब पीने से 2013-14 में 13 लोगों की मृत्यु हो गई थी जिसकी सूचना मिलते ही वर्तमान उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी भी सुगौली हमारे वार्ड में पहुँचे थे फिर भी यहाँ दो व्यक्तियों द्वारा शराब बेचा जा रहा है अगर ये नही रुका तो कोई भी बड़ा हादसा हो सकता है क्योंकि शराब पीने के बाद नशे में गांव के लोगों का अपने ही परिवार वालो के साथ व्यवहार अलग ही हो जाता है।

रिपोर्ट: विवेक कुमार यादव