Sat. May 15th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

कोरोना से बचाव में तीन ‘स’ उपयोगी

1 min read

राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण वीडियो के माध्यम से दे रहा संदेश
– स्थान, संपर्क तथा स्थल से बचने की सलाह
मुजफ्फरपुर: कोरोना वायरस की वजह से हमारे जीवन में व्यापक बदलाव आए हैं। इस बीमारी से बचने के लिए हमारे पास इसकी न तो कोई दवा है और न ही कोई टीका। ऐसे में हम कुछ नियमों का पालन करके ही इस बीमारी से बचे रह सकते हैं। इस संबंध में राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण ने एक वीडियो तैयार किया है जिसमें कोरोना से बचने के लिए तीन ‘स’ से बचने की बात कही जा रही है। इस तीन ‘स’ का संदर्भ वीडियो के माध्यम से भीड़-भाड़ वाले स्थानों से बचें, किसी व्यक्ति के सीधे संपंर्क से बचें तथा तंग स्थलों से दूरी बनाकर रहने को कहा गया है।

हम वायरस को फैलने से कैसे रोकें
अगर आप कहीं छींक रहे हैं या खांस रहे हैं तो अपने मुंह के सामने टिश्यू पेपर जरुर रखें और उस वक्त अगर आपके पास टिश्यू ना हो तो अपने हाथ को आगे कर कोहनी की ओट में छींके या खांसे। वहीं टिश्यू के उपयोग पर उसे जल्द से जल्द डिस्पोजल कर दें। अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो इसमें मौजूद वायरस दूसरों को भी संक्रमित कर सकता है। यही वजह है कि लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग के पालन का निर्देश दिया जाता है। इसके तहत लोग कम से कम एक -दूसरे से दो गज की दूरी बना कर रखें। वहीं बहुत जरुरी हो तभी घर से निकलें, ताकि संक्रमित लोगों के संपर्क में आने से बचा जा सके। वहीं विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार रोजाना साबुन से हाथ धोते रहना ग्लव्स की तुलना में कहीं अधिक सुरक्षित और कारगर है।

सतह साफ करने में ब्लीच का करें उपयोग
डब्ल्यूएचओ ने अपने एक पोस्टर में कोविड 19 के दौरान गंदी सतहों को विनिसंक्रमित करने के लिए पोस्टर से सलाह दे रहा है। जिसमें कहा गया है कि पहले गंदी सतहों को घर में इस्तेमाल होने वाले डिटर्जेंट या साबुन के साथ पानी से सतह को धो लें। वहीं घर में इस्तेमाल के लायक ब्लीच(सोडियम हाइपोक्लोराइट) का उपयोग किटाणुओं तथा वायरस के खात्में के लिए कर सकते हैं। ब्लीच के इस्तेमाल के दौरान ग्ल्ब्स जरुर पहनना चाहिए। वहीं ब्लीच को उसके पैकेट पर दिए गए निर्देशानुसार ही इस्तेमाल करना चाहिए।

कोविड 19 के दौरान निम्न बातों पर करें अमल

अपने दोस्तों और परिवार के लोगों के साथ फ़ोन, वीडियो कॉल या फिर सोशल मीडिया के माध्यम से संपर्क में बने रहें.
– उन चीज़ों के बारे में बात करते रहें जिससे आपको परेशानी हो रही हो.
– दूसरे लोगों को भी समझने की कोशिश करें.
– अपनी नई दिनचर्या को व्यवहारिक तरीक़े से प्लान करें.
– अपने शरीर का ध्यान रखें. नियमित व्यायाम और ख़ान-पान का ध्यान रखें.
-आप जहां से भी जानकारियां ले रहे हों वह विश्वसनीय सोर्स हो और इस महामारी के बारे में बहुत अधिक ना पढ़ें.
– अपने व्यवहार को अपने नियंत्रण में रखें.
– अपने मनोरंजन का भी पूरा ध्यान रखें.
– वर्तमान पर फ़ोकस करें और यह याद रखें कि यह समय चिर-स्थायी नहीं है.
– अपनी नींद को किसी भी तरह से बाधित ना होने दें.

रिपोर्ट : अमित कुमार