Fri. Jun 18th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

वैशाली : लाकडाउन में टीबी का ईलाज नहीं होगा प्रभावित.. बलगम जांच की रफ्तार बढ़ाने कि निर्देश

1 min read

वैशाली 21 मई : जिला यक्ष्मा केंद्र हाजीपुर के सभागार में गुरुवार को समीक्षा बैठक संपंन हुई। जिसकी अध्यक्षता जिला यक्ष्मा पदाधिकारी डॉ शिव कुमार रावत ने की। समीक्षा के दूसरे दिन टीबी मरीजों के ईलाज शुरु करने के बारे में बात की गई। समीक्षा के दौरान सोशल डिस्टेंशिंग का पूरा ख्याल रखा गया। बैठक में लैब टेकि्निशियन से कहा गया कि वे अपने आप को सुरक्षित रखते हुए क्षेत्र का भ्रमण करें। वहीं पुराने मरीजों का ससमय फॉलो-अप भी करें। साथ ही ईलाज में लगे प्राइवेट डॉक्टर, टेक्निीशियन एवं आशा को समय पर भुगतान करने की बात कही गयी। उन्होंने कहा लैब टेक्नीशियन को सीबी नेट मशीन के द्वारा ज्यादा से ज्यादा जांच कर सीडीआर को बढ़ाने पर ध्यान देना होगा। तभी नये रोगी की पहचान कर संक्रमण तथा रोगियों की पहचान की जा सकेगी.

दूसरे राज्यों और जिलों से आए मरीजों को भी मिलेगी दवा:

समीक्षा में डॉ रावत ने निर्देश दिया कि दूसरे राज्य तथा जिलों से आए टीबी के मरीजों को भी दवा उपलब्ध करायी जाय। इसी बीमारी को पूरे देश से हटाने का संकल्प लिया गया है। समीक्षा में आए लोगों को मास्क और सेनेटाइजर दिया गया।

बीच में नहीं छोड़ पायेंगे इलाज, मरीजों को 500 रूपये पोषण भत्ता:

लगभग 10-15 प्रतिशत लोग टीबी का इलाज बीच में ही छोड़ देते थे. इसलिए सरकार ने प्रोग्राम के तहत अपना इलाज करवाने वाले टीबी के मरीज को 500 पोषण भत्ते के रूप में देने का निर्णय लिया। सरकार की तरफ से जो दवाई दी जाती है उसपर एक टोल-फ्री नम्बर लिखा हुआ है. जब कभी भी आप दवाई खाएं तो उस नंबर पर एक मिस कॉल कर दें. इसे निक्षय योजना कहते हैं। अगर कोई दवा नहीं खाता है तो स्वास्थ्य कार्यकर्त्ता घर पहुँच जाता है और दवाई न खाने की वजह पूछता है।

टीबी के लक्षण

भूख कम लगना, वजन कम होने लगना, बुखार आना, शाम को बुखार बढ़ जाना, पसीना आना, छोटे बच्चे का ग्रोथ रुक जाना, बच्चे का चिड़चिड़ा हो जाना। दो हफ्ते से ज्यदा की खांसी, खांसी मे खून का आना, इसके साथ भूख का कम लगना। अबर बोन में टीबी है तो उसके आस -पास दर्द होगा। गिल्टी की टीबी मे ग्लैंड भी बढ़ जाती है।
बैठक में सीडीओ डॉ शिव कुमार रावत, राजीव कुमार, रनवीर सिंह, श्वेता कुमारी, एवं संबंधित एसटीएस, एसएलटीएस एवं अन्य स्वास्थ्यकर्मियों ने हिस्सा लिया।

रिपोर्ट : अमित कुमार