Sun. Jul 25th, 2021

Real4news

Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी – Real4news.com

कोरोना काल में संतुलित आहार देकर बच्चों की इम्युनिटी बढ़ा सकते हैं

2 min read

बच्चों को खाने में दें आवश्यक पोषक तत्व, रोग से लड़ने के लिए बढ़ेगी इम्युनिटी

– डायटीशियन चित्रा मिश्रा ने बताया-कोरोना काल में संतुलित आहार देकर बच्चों की इम्युनिटी बढ़ा सकते हैं

शिवहर,
कोरोना से लड़ने के इम्युनिटी बढ़ाना जरूरी है। इसके लिए संतुलित भोजन जरूरी है। जब बात घर के नन्हे-मुन्ने की हो, तो जिम्मेदारी और बढ़ जाती है। कोरोना काल में बच्चे का ख्याल रखना जरूरी है। वैज्ञानिकों के अनुसार थर्ड वेब में बच्चे कोरोना के नये वेरिएंट का शिकार हो सकते हैं, ऐसे में माता-पिता बच्चों को शारीरिक और मानसिक रूप से फिट रख सकते हैं। यह बातें शहर की डायटीशियन व सदर अस्पताल, शिवहर में संचालित पोषण पुनर्वास केंद्र की एफडी चित्रा मिश्रा ने कही। उन्होंने बताया कि कोरोना काल में संतुलित आहार देकर बच्चों की इम्युनिटी बढ़ा सकते हैं। आहार के पोषक तत्व बच्चों के लिए सुरक्षा कवच की तरह काम करते हैं।

बच्चों को जरूर दें आवश्यक पोषक

पोषण संबंधी कमियों ने बच्चों को विभिन्न प्रकार के वायरस और बैक्टीरिया के लिए अतिसंवेदनशील बना दिया है और कोविड और भी नुकसानदायक है। इसलिए माता-पिता को यह सुनिश्चित करना होगा कि वे सभी आवश्यक पोषक तत्व प्राप्त कर रहे हैं। सुनिश्चित करें कि वे प्रत्येक भोजन में स्वस्थ और पौष्टिक खाना खा रहे हैं जैसे अंडे, मछली, दाल, बीन्स, मल्टीग्रेन आटा, नट्स जैसे बादाम अखरोट , बीज जैसे अलसी , पम्पकिन सीड, सूरजमुखी के सीड्स।

बच्चों को विटामिन सी रिच फ़ूड दें

– विटामिन सी रिच फ़ूड के सेवन करने से इम्ययुनिटी बढ़ती है। विटामिन सी या एस्कॉर्बिक एसिड पानी में घुलनशील विटामिन है, जो स्वस्थ प्रतिरक्षा प्रणाली के समर्थन में अपनी भूमिका के लिए जाना जाता है। बच्चों को प्रतिदिन विटामिन सी वाले खट्टे फल जैसे संतरा, मौसमी, आमला, आम, अनानास, कीवी आदि और टमाटर, आलू, स्ट्रॉबेरी, हरी और लाल पीली शिमला मिर्च, ब्रोकोली, ब्रसेल्स स्प्राउट्स ज़रूर दें।

बच्चों को जिंक भी खिलाएं

जिंक (जस्ता) उन पोषक तत्वों में से एक है जो हमारे शरीर के कार्यों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। प्रतिरक्षा को बढ़ाने से लेकर प्रोटीन के संश्लेषण, एंजाइमिक रिएक्शन और विकास में जिंक, हमारे लिए महत्वपूर्ण है। जिंक-मांस, बीज, नट्स, साबुत अनाज, छोले, आदि सहित प्राकृतिक रूप से पौधों और खाद्य पदार्थों में पाया जाता है ।

बच्चों के पेट के स्वास्थ्य का ध्यान रखें

माता-पिता के रूप में हमें उनके वॉशरूम व्यवहार का अवलोकन करना चाहिए। इसके अलावा उनके आहार में पूर्व और प्रो-बायोटिक्स दें। प्रोबायोटिक्स जीवित सूक्ष्मजीव हैं और इन्हें किफिर, सोया, दही, बीट आदि किण्वित खाद्य पदार्थों में पाया जा सकता है, यह आंत में अच्छे बैक्टीरिया को बढ़ाता है। एक महत्वपूर्ण तथ्य है कि हमारी इम्युनिटी हमारी आंतों में निहित है। हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि कोरोना के कुछ पहले संकेत डायरिया है, इसलिए बच्चों की गट हेल्थ और आंत को नजरअंदाज न करें।

फल और सब्जियां परोसें

बच्चों को अधिक फल और सब्जियां परोसें।
फल और सब्ज़ियां जैसे गाजर, हरी फलियां, संतरा, स्ट्रॉबेरी में फाइटोन्यूट्रीएंट होते हैं जो वायरस संक्रमण से लड़ने वाले सफेद रक्त कोशिकाओं और इंटरफेरॉन के शरीर के उत्पादन में वृद्धि कर सकते हैं। इसलिए अपने बच्चों को एक दिन में 4 – 5 सर्विंग फल और सब्ज़ियां खिलाने की कोशिश करें।

बच्चों का तनाव (स्ट्रेस) का स्तर कम रखें

तनाव न केवल बुजुर्गों को बल्कि बच्चों को भी प्रभावित करता है। आपको अपने और अपने बच्चों के तनाव के स्तर को कम करने का अभ्यास साल भर करना चाहिए। कोरोना वायरस से लड़ने के लिए यह विशेष रूप से महत्वपूर्ण है। बच्चों को ध्यान, व्यायाम और नियंत्रित सांस लेने की तकनीक सिखाएं और हंस-खेलकर उनका मनोरंजन करें। मोबाइल और इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स से बच्चों को दूर रखें। ऐसे में बच्चों को एक अच्छी 8-10 घंटे की नियमित नींद लेना महत्वपूर्ण है, क्योंकि अच्छी नींद हमें अंदर से रोगमुक्त बनाती है और इम्युनिटी बढ़ाने में मदद भी।

रिपोर्ट – अमित कुमार